Search
  • alpayuexpress

सरकार द्वारा चिह्नित कराए जाने के बावजूद गांवों के पोखरी व सार्वजनिक जमीनों पर है दबंगों का अवैध कब्

सरकार द्वारा चिह्नित कराए जाने के बावजूद गांवों के पोखरी व सार्वजनिक जमीनों पर है दबंगों का अवैध कब्जा, ग्राम प्रधान संघ ने भरी हुंकार


नवम्बर शनिवार 7-11-2020


किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस



जखनियां। प्रदेश सरकार द्वारा गांवों की आरक्षित व अनारक्षित जमीनों को बार-बार चिह्नित कराए जाने के बाद भी वर्षों से दबंग व रसूखदार अवैध कब्जा जमाए बैठे हैं। इन जमीनों को विभाग द्वारा न तो खाली कराया जाता है और न ही कब्जेदारों पर कोई कार्रवाई ही की जाती है। गांव की पोखरी व सार्वजनिक जमीनों के खाली न होने से गांव के सभी विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। इधर शासन द्वारा प्रधानों पर दबाव बनाया जाता है कि गांव के चक मार्ग, नाली खड़ंजा आदि के कार्य पूरे कराए जाएं। ऐसी जमीनों के खाली नहीं करवाए जाने से क्षुब्ध जखनियां व मनिहारी ब्लॉक के ग्राम प्रधानों ने स्थानीय विकास खंड के सभागार में बैठक की और फिर जमीन खाली कराने के लिए उपजिलाधिकारी सूरज यादव को पत्रक सौंपा। ग्राम प्रधान संघ के ब्लॉक अध्यक्ष योगेश यादव ने कहा कि गांव में पंचायत भवन, खेल का मैदान, शौचालय का गड्ढा, समाधि स्थल, कब्रिस्तान, गोचर, खलिहान, पौधरोपण, नालियों आदि पर किए गए कब्जों को राजस्व विभाग द्वारा नहीं हटाया जाता है। कहा कि अब प्रधान संघ चुप नहीं बैठेगा। गांवों में सरकारी जमीनों पर दबंगों द्वारा कब्जा करना विवाद का कारण बनता जा रहा है। कहा कि प्रधान द्वारा शिकायत करने के बाद राजस्व विभाग के कर्मचारी कोई कार्रवाई तक नहीं करते। प्रधानों ने हुंकार भरते हुए कहा कि 15 दिन के अंदर गांव में अवैध अतिक्रमण नहीं हटाए जाते हैं तो हम व्यापक रूप से धरना प्रदर्शन करेंगे। जयराम सिंह, कन्हैया कुशवाहा, चंद्रिका सिंह यादव, कमलेश यादव, धर्मदेव यादव, सरोज सुभाष, सूबेदार, मनोज राजभर, छोटेलाल पटेल, रामअवध यादव आदि रहे।

0 views0 comments