Search
  • alpayuexpress

कौशाम्बी में बिकरू कांड जैसी वारदात, हमले में दरोगा घायल, छीन ले गए पिस्टल




अगस्त शुक्रवार 14-8-2020


किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस


●दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला

●घटना कड़ा धाम के कछुआ गांव की


उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी में पुलिस टीम पर हमला हुआ है. ये हमला तब हुआ जब पुलिस दबिश देने गई थी. पुलिस एक आरोपी को पकड़ने के लिए गई थी. हमले में एक सिपाही और एक दारोगा घायल हो गए. ग्रामीण दारोगा की पिस्टल छीनकर फरार हो गए. ये घटना कड़ा धाम के कछुआ गांव की है.


घटना की जानकारी मिलने पर एएसपी मौके पर पहुंचे. पुलिस बुधवार रात करीब आठ बजे सैनी क्षेत्र के कछुआ गांव में चोरी के एक मामले में दबिश देने गई थी. बताया जा रहा है कि दबिश को लेकर पुलिस पार्टी से ग्रामीणों की बहस हो गई. विवाद बढ़ने पर ग्रामीणों ने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया.


चोरी के आरोपी को पकड़ने गई थी पुलिस


कड़ा धाम कोतवाली क्षेत्र के कई घरों में चोरी की घटनाएं हुई हैं. इन्हीं घटनाओं के खुलासे के लिए पुलिस टीम मुखबिर की सूचना पर सैनी कोतवाली के नरसिंहपुर कछुआ गांव में चोर को पकड़ने के लिए छापेमारी करने पहुंची थी.


छापेमारी के दौरान कड़ा धाम कोतवाली पुलिस ने सिंटू नाम के एक युवक को हिरासत में ले लिया. इसी दौरान हिरासत में लिए गए युवक की मां फूल कली कई महिलाओं और लड़कों के साथ मिलकर पुलिस टीम पर ईट-पत्थर व लाठी-डंडे से हमला बोल दिया. हमले में एक दारोगा और सिपाही को गंभीर चोटें आई हैं. हमलावरों ने दारोगा की सर्विस रिवाल्वर और मोबाइल भी छीन लिया. दोनों पुलिसकर्मी किसी तरह मौके से भागकर अपनी जान बचाई.


पुलिस अधीक्षक अभिनंदन का दावा है कि दारोगा से छीनी गई रिवाल्वर को बरामद कर लिया गया है. उनका कहना है कि पुलिस टीम पर हमला करने वाले आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. हिरासत में लिए गए हमलावरों के खिलाफ रासुका के तहत भी कार्रवाई की जाएगी.


पुलिस टीम पर हमले की जानकारी होने पर महकमे में हड़कंप मच गया. कई थाना की पुलिस मौके पर पहुंची. ताबड़तोड़ छापेमारी की गई. इस दौरान तीन महिला समेत एक युवक को पुलिस ने हिरासत में लिया है.


बिकरू गांव में पुलिस टीम पर हुआ था हमला


बता दें कि बीते महीने कानपुर के बिकरू गांव में भी पुलिस टीम पर हमला किया था. यहां पर गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला किया गया था, जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे.


इस वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी विकास दुबे फरार हो गया था. करीब एक हफ्ते बाद उसे मध्य प्रदेश के उज्जैन से पकड़ा गया था. उज्जैन से कानपुर लाते वक्त यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर में उसे मार गिराया था.

1 view0 comments