Search
  • alpayuexpress

अल्पायु एक्सप्रेस न्यूज़ विशेष





पति की सलामती के लिए जाने कितना महत्व रखता है तीज व्रत-उपवास


बुधवार अगस्त 19-8-2020


किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस


इस वर्ष हरतालिका तीज 21 अगस्त को है। हिंदू धर्म में पति को परमेश्वर मानने की परंपरा सदियों पुरानी है और पति की सलामती के लिए युगों-युग से पत्नियां प्रार्थनाएं करती आ रही हैं। हमारे धर्म ग्रंथों में देवियों के महात्मय का भी वर्णन है। जिन्होंने अपने पतियों के लिए हजारों साल तप किया तो उन्हें पति रुप में पाया है। मां पार्वती, माता सती, माता सीता सबने पति की सलामती के लिए कठोर तपस्या कर सतीत्व का वरदान पाया है। ये तो हुई सतयुग की बातें, आज भी महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए व्रत पूजा पाठ करती हैं।


कभी चौथ, तो कभी करवा चौथ और कभी तीज का निर्जला व्रत करती है। ऐसा ही एक कठिन और निर्जला व्रत है हरितालिका तीज। जो भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया को किया जाता है। ये व्रत ज्यादातर सुहागिनें करती है। उत्तर भारत में ये व्रत कुंवारी लड़कियां भी करती हैं, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि शिव जी को पति के रूप में पाने के लिए इस व्रत को पार्वती जी ने शादी से पहले किया था। इस साल भी हरितालिका तीज 21 अगस्त को मनाया जा रहा है। इस व्रत को लेकर महिलाओं में बहुत उत्साह रहता है।

0 views0 comments