Search
  • alpayuexpress

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तब्दील होंगे जिले के 87 उपकेंद्र

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तब्दील होंगे जिले के 87 उपकेंद्र

नवम्बर शुक्रवार 6-11-2020


किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस



गाजीपुर। सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के साथ ही हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर कार्यक्रम की शुरुआत की थी जिसके अंतर्गत गरीब, कमजोर एवं मध्यम वर्ग के लोगों को सभी तरह की स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने का संकल्प लिया गया था । प्रत्येक गाँव में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर चालू करने का मुख्य उद्देश्य लोगों को विश्वसनीय, गुणवत्तापूर्ण एवं विस्तारित प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना है। इसी के तहत अब जनपद में भी तीसरे चरण में 87 उपकेन्द्रों और तीन नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तब्दील करने के लिए शासन ने निर्देश दिये हैं। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (एसीएमओ) डॉ केके वर्मा ने बताया कि जनपद में कुल 393 उपकेंद्र हैं जहां पर उपकेंद्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तब्दील करना है जिन्हें कई चरणों में पूरा किए जाने की योजना है। इसी योजना के तहत प्रथम चरण में 30 उपकेंद्र और 20 नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का निर्माण कराया गया । वहीं दूसरे चरण में 89 उपकेंद्र और 15 नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर बनाए जाने की प्रक्रिया चल रही है। अब 87 उपकेन्द्रों और तीन नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर बनाए जाने का निर्देश प्राप्त हो चुका है जिसको लेकर विभागीय प्रक्रिया शुरू कर दी गई हैं।

डॉ वर्मा ने बताया कि उपकेंद्र पर एक कमरा, शौचालय, फर्नीचर के साथ ही जरूरी उपकरण और बाहरी ब्रांडिंग किए जाने की योजना है जिसकी लागत शासन ने सात लाख रुपये निर्धारित की है । इस हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर को चलाने के लिए जीएनएम और स्टाफ नर्स की नियुक्ति होती है। इस केंद्र पर मातृ स्वास्थ्य देखभाल, सामान्य प्रसव की सुविधा, नवजात एवं शिशु स्वास्थ्य देखभाल, बाल्यावस्था एवं किशोर स्वास्थ्य देखभाल, परिवार नियोजन एवं गर्भनिरोधक सेवाएं, नेत्र एवं ईएनटी से संबंधित सामान्य सेवाएं, बीमारियों की स्क्रीनिंग एवं सामान्य प्रबंधन, दंत देखभाल से संबंधी सेवाएं, वृद्धावस्था स्वास्थ्य देखभाल एवं आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध रहेंगी । विशेष सेवाओं में स्वच्छ पेयजल की सुविधा, शौचालय की सुविधा, सामान्य मूत्र एवं बलगम की जांच होनी है एवं अनिवार्य दवाओं की उपलब्धता रहेगी।

1 view0 comments