top of page
Search
  • alpayuexpress

20 करोड़ नकदी हुई जब्त!...पूर्व सीएमडी के खिलाफ सीबीआई के 19 स्थानों पर छापे

20 करोड़ नकदी हुई जब्त!...पूर्व सीएमडी के खिलाफ सीबीआई के 19 स्थानों पर छापे


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


नई दिल्ली। CBI ने दिल्ली, चंडीगढ़, पंचकुला, गुरुग्राम, सोनीपत और गाज़ियाबाद सहित लगभग 19 स्थानों पर छापेमारी की है जो कि जल शक्ति मंत्रालय के तहत आने वाली वैपकोस वॉटर एंड पावर कंसल्टेंसी के पूर्व CMD राजेंद्र कुमार गुप्ता के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में है। CBI ने उनके और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया है और आज 20 करोड़ रुपए नकद ज़ब्त किए हैं।

सीबीआई ने आय से अधिक संपत्ति मामले में मंगलवार को बड़ी कार्रवाई की। सीबीआई ने जल शक्ति मंत्रालय के तहत आने वाले वैपकोस वॉटर एंड पावर कंसल्टेंसी के पूर्व सीएमडी राजेंद्र पाल गौतम के परिसरों पर छापे के दौरान बीस करोड़ रुपये कैश बरामद किए हैं। सीबीआई ने बताया कि सीबीआई ने जल शक्ति मंत्रालय के तहत आने वाली वैपकोस वॉटर एंड पावर कंसल्टेंसी के पूर्व सीएमडी राजेंद्र कुमार गुप्ता के विभिन्न ठिकानों पर रेड किया। आय से अधिक संपत्ति के मामले में सीबीआई ने दिल्ली, चंडीगढ़, पंचकुला, गुरुग्राम, सोनीपत और गाजियाबाद सहित लगभग 19 जगहों पर छापेमारी की। वहीं, सीबीआई ने उनके और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। छापेमारी के दौरान सीबीआई ने 20 करोड़ रुपये नकद जब्त किए हैं।

सीबीआई ने आय से अधिक संपत्ति मामले में दिल्ली, गाजियाबाद समेत 19 जगहों पर छापेमारी की। इस छापेमारी में सीबीआई को करीब 20 करोड़ रुपये की नकदी बरामद की है। सीबीआई ने यह छापेमारी जलशक्ति मंत्रालय के तहत आने वाली वैपकोस वाटर एंड कंसल्टेंसी के पूर्व सीएमडी राजेंद्र कुमार गुप्ता के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले में की है। गुप्ता के खिलाफ हाल में आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति अर्जित करने के लिए मामला दर्ज किया गया था। अधिकारियों ने बताया कि गुप्ता और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के बाद, सीबीआई ने उनके परिसरों की तलाशी ली, जहां संपत्ति और अन्य कीमती सामानों से संबंधित दस्तावेजों के अलावा 20 करोड़ रुपये नकद जब्त किये गये। ‘वाप्कोस' जल शक्ति मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत सरकार के पूर्ण स्वामित्व वाला केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है। इसे पहले ‘वाटर एंड पावर कंसल्टेंसी सर्विसेज (इंडिया) लिमिटेड' के रूप में जाना जाता था

1 view0 comments

Comments


bottom of page