Search
  • alpayuexpress

सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन से जिलाधिकारी राहत कोष में दिया 11,000 रुपऐ का चेक


( बुलंदशहर से मुकेश आर्य की रिपोर्ट )


सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन से जिलाधिकारी राहत कोष में दिया 11,000 रुपऐ का चेक


देश व प्रदेश में चल रही कोराना वायरस की महामारी के चलते लोगों को राशन की समय पर पूर्ति कराए जाने हेतु बुलंदशहर जिला अधिकारी राहत कोष में एक सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन में से ₹11000 की राशि का चेक एडीएम रविंद्र कुमार को दिया।

आज दिनांक 4 अप्रैल 2020 को कोरोनावायरस की महामारी से गरीब लोगों को जीवन यापन करने में हो रही समस्या को देखते हुए देवीपुरा प्रथम निवासी सुरेश चंद शर्मा एवं रुकमणी देवी सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन मे से कलक्ट्रेट पहुंचकर जिला अधिकारी राहत कोष में ₹11000 का चेक एडीएम प्रशासन रविंद्र कुमार को सौंपा। सुरेश चंद शर्मा ने बताया कि इस संकट की घड़ी में महामारी के चलते जंग में जीत हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की अपील पर राहत कोष में यह धनराशि देने का मन बनाया है, साथ ही रुकमणी देवी ने कहा कि आज पूरा देश कोरोना जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहा है। ऐसे में हम सब को आगे आकर अपने देश व देशवासियों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। जहां समाजसेवी लोग आगे बढ़कर गरीब लोगों की मदद कर रहे हैं। उनके जीवन यापन को बेहतर बनाने के लिए उचित कदम उठा रहे हैं। तथा सभी सरकारी कर्मचारी अपनी सैलरी से एक दिन का वेतन इस महामारी में देकर योगदान कर रहे हैं। इसी से प्रेरित होकर सेवानिवृत्त शिक्षिका ने अपने पति के साथ मिलकर जिलाधिकारी राहत कोष बुलंदशहर में अपनी पेंशन में से ₹11000 का चेक एडीएम को देखकर सराहनीय कार्य किया है। जिससे कि बेसहारा लोगों को समय पर भोजन व जरूरत की सामग्री पहुंचाई जा सके।सेवानिवृत्त

( बुलंदशहर से मुकेश आर्य की रिपोर्ट ) देश व प्रदेश में चल रही कोराना वायरस की महामारी के चलते लोगों को राशन की समय पर पूर्ति कराए जाने हेतु बुलंदशहर जिला अधिकारी राहत कोष में एक सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन में से ₹11000 की राशि का चेक एडीएम रविंद्र कुमार को दिया।

आज दिनांक 4 अप्रैल 2020 को कोरोनावायरस की महामारी से गरीब लोगों को जीवन यापन करने में हो रही समस्या को देखते हुए देवीपुरा प्रथम निवासी सुरेश चंद शर्मा एवं रुकमणी देवी सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन मे से कलक्ट्रेट पहुंचकर जिला अधिकारी राहत कोष में ₹11000 का चेक एडीएम प्रशासन रविंद्र कुमार को सौंपा। सुरेश चंद शर्मा ने बताया कि इस संकट की घड़ी में महामारी के चलते जंग में जीत हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की अपील पर राहत कोष में यह धनराशि देने का मन बनाया है, साथ ही रुकमणी देवी ने कहा कि आज पूरा देश कोरोना जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहा है। ऐसे में हम सब को आगे आकर अपने देश व देशवासियों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। जहां समाजसेवी लोग आगे बढ़कर गरीब लोगों की मदद कर रहे हैं। उनके जीवन यापन को बेहतर बनाने के लिए उचित कदम उठा रहे हैं। तथा सभी सरकारी कर्मचारी अपनी सैलरी से एक दिन का वेतन इस महामारी में देकर योगदान कर रहे हैं। इसी से प्रेरित होकर सेवानिवृत्त शिक्षिका ने अपने पति के साथ मिलकर जिलाधिकारी राहत कोष बुलंदशहर में अपनी पेंशन में से ₹11000 का चेक एडीएम को देखकर सराहनीय कार्य किया है। जिससे कि बेसहारा लोगों को समय पर भोजन व जरूरत की सामग्री पहुंचाई जा सके।

सेवानिवृत्त

कराए जाने हेतु बुलंदशहर जिला अधिकारी राहत कोष में एक सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन में से ₹11000 की राशि का चेक एडीएम रविंद्र कुमार को दिया।से मुकेश आर्य की रिपोर्ट ) देश व प्रदेश में चल रही कोराना वायरस की महामारी के चलते लोगों को राशन की समय पर पूर्ति कराए जाने हेतु बुलंदशहर जिला अधिकारी राहत कोष में एक सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन में से ₹11000 की राशि का चेक एडीएम रविंद्र कुमार को दिया।

20 को कोरोनावायरस की महामारी से गरीब लोगों को जीवन यापन करने में हो रही समस्या को देखते हुए देवीपुरा प्रथम निवासी सुरेश चंद शर्मा एवं रुकमणी देवी सेवानिवृत्त शिक्षक दंपति ने अपनी पेंशन मे से कलक्ट्रेट पहुंचकर जिला अधिकारी राहत कोष में ₹11000 का चेक एडीएम प्रशासन रविंद्र कुमार को सौंपा। सुरेश चंद शर्मा ने बताया कि इस संकट की घड़ी में महामारी के चलते जंग में जीत हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की अपील पर राहत कोष में यह धनराशि देने का मन बनाया है, साथ ही रुकमणी देवी ने कहा कि आज पूरा देश कोरोना जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहा है। ऐसे में हम सब को आगे आकर अपने देश व देशवासियों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। जहां समाजसेवी लोग आगे बढ़कर गरीब लोगों की मदद कर रहे हैं। उनके जीवन यापन को बेहतर बनाने के लिए उचित कदम उठा रहे हैं। तथा सभी सरकारी कर्मचारी अपनी सैलरी से एक दिन का वेतन इस महामारी में देकर योगदान कर रहे हैं। इसी से प्रेरित होकर सेवानिवृत्त शिक्षिका ने अपने पति के साथ मिलकर जिलाधिकारी राहत कोष बुलंदशहर में अपनी पेंशन में से ₹11000 का चेक एडीएम को देखकर सराहनीय कार्य किया है। जिससे कि बेसहारा लोगों को समय पर भोजन व जरूरत की सामग्री पहुंचाई जा सके।

3 views0 comments