top of page
Search
  • alpayuexpress

सूर्य ग्रहण में गर्भवती महिलाओं को भारी पड़ सकती है बस ये एक गलती, करना चाहिए इस मंत्र का जाप

गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


सूर्य ग्रहण में गर्भवती महिलाओं को भारी पड़ सकती है बस ये एक गलती, करना चाहिए इस मंत्र का जाप


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर: दिवाली के अगले दिन यानी आज मंगलवार को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है, जिसकी शुरुआत दोपहर दो बजकर 29 से होगी और शाम 6 बजकर 32 मिनट पर खत्म हो जाएगा. सूर्य ग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले ही शुरू हो चुका है. धार्मिक मान्यताओं अनुसार सूर्य ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव गर्भवती महिलाओं पर ही पड़ता है. इसलिए किसी भी ग्रहण के समय इन्हें सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है. सूर्य ग्रहण पर क्या करें क्या न करें

सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं इन चीजों का रखें ख्याल

सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए क्योंकि ये गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए अशुभ होता है.

गर्भवती महिलाओं को सूर्य ग्रहण बिल्कुल भी नहीं देखना चाहिए.

गर्भवती महिलाओं को सूर्य ग्रहण से पहले और बाद में नहाना चाहिए.

सूर्य ग्रहण के दौरान किसी भी तरह की नुकीली चीज़ें जैसे कि चाकू, सुई आदि इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

ग्रहण काल में गहने या धातु से बनी चीजें सेफ़्टी पिन, हेयर पिन आदि न पहनें.

सूर्य ग्रहण के दौरान सोने से बचें क्योंकि ये अशुभ माना जाता है.

ग्रहण के दौरान अपने कमरे में सूर्य की किरण न आने दें.

सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को अपने बिस्तर पर दूर्वा (दूब घास) के साथ बैठना चाहिए. साथ ही आप अपने पास एक नारियल रख सकती हैं जिसे ग्रहण खत्म होने के बाद आप जल में बहा दें.

ग्रहण के दौरान कुछ भी खाना-पीना चाहिए.

सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं को सूर्य से जुड़े मंत्रों का लगातार जाप करते रहना चाहिए.

करें इस मंत्र का जाप

सूर्य ग्रहण पर इस मंत्र का करें जाप-

‘ॐ घृणि: सूर्यादित्योम, ऊँ घृणि: सूर्य आदित्य श्री, ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय: नम:, ऊँ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नम: ‘इस मंत्र के जाप से आपके जीवन में कोई बाधा नहीं आएगी.

1 view0 comments

Opmerkingen


bottom of page