top of page
Search
  • alpayuexpress

ससुर- बहू के विवाद ने गांव को बना दिया शमशान!...गांव में सन्नाटा ऐसा की अधिकांश लोगों को घर छोड़कर हो

ससुर- बहू के विवाद ने गांव को बना दिया शमशान!...गांव में सन्नाटा ऐसा की अधिकांश लोगों को घर छोड़कर होना पड़ा फरार


आदित्य कुमार सीनियर क्राइम रिपोर्टर


जखनियां। खबर गाजीपुर जिले से हैं जहां पर शादियाबाद थानाक्षेत्र के नेवादा दुर्ग विजय राय गांव में बवाल के बाद पुलिस ने रात भर जगह-जगह छापेमारी करके 12 लोगों को गिरफ्तार किया। वहीं घटना के बाद से ही गांव के अधिकांश पुरुष घर की महिलाओं व बच्चों को लेकर फरार हो गए हैं। अब घरों में बेजुबान जानवर मौजूद हैं। जो भूख प्यास से चिल्ला रहे हैं। वहीं रात में हुए पथराव में शादियाबाद थाने पर तैनात तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से लहूलुहान हो गए। घायल कांस्टेबल अवधेश सिंह का गम्भीर हाल में वाराणसी स्थित ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा है। वहीं 2 अन्य कांस्टेबल का सामान्य उपचार चल रहा है। गांव में सुरक्षा की दृष्टि से काफी संख्या में शादियाबाद व भुडकुडा थाने के दर्जनों पुलिसकर्मी सहित पीएसी के जवान भी तैनात हैं। पूरा गांव छावनी में तब्दील हो गया है। बता दें कि नेवादा दुर्ग विजय राय गांव के जयंता विश्वकर्मा की छोटी बहू सुषमा विश्वकर्मा घर पहुंची और अपना हक मांगने लगी। जिस पर ससुर जयंता ने उसे लाठी डंडे से मारा। जिसके बाद ग्रामीणों ने शादियाबाद पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंचे कांस्टेबल अवधेश सिंह व अन्य पुलिसकर्मियों पर वहां मौजूद भीड ने पथराव कर दिया। जिसमें अवधेश के साथ ही कांस्टेबल शक्ति सिंह व शामबंद भी घायल हो गए। घटना में पुलिस ने रात में ही आरोपी जयंता शर्मा सहित गांव के 12 उपद्रवियों को पकड़ लिया था। क्षेत्राधिकारी रविंद्र कुमार वर्मा ने बताया कि कानून किसी के हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। बताया कि इस मामले में 30 नामजद व 20 अज्ञात के खिलाफ गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

7 views0 comments

Comentários


bottom of page