top of page
Search
  • alpayuexpress

सरौली में छुट्टा पशुओ के शिकायत पर लगी फटकार!...डीएम ने लगाई फटकार,एक बार फिर देवकली के सरौली गांव च

सरौली में छुट्टा पशुओ के शिकायत पर लगी फटकार!...डीएम ने लगाई फटकार,एक बार फिर देवकली के सरौली गांव चर्चा में


मोहम्मद इसरार पत्रकार उप संपादक


गाजीपुर। जिलाधिकारी आर्यका अखौरी की अध्यक्षता एंव पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह की उपस्थिति में जिला अनुश्रवण /मूल्यांकन समीक्षा समिति की बैठक बुधवार को रायफल क्लब सभगार में सम्पन्न हुआ। बैठक में जिलाधिकारी ने पशु आश्रय स्थलो में संरक्षित पशुओ की जानकारी लेने पर बताया कि जनपद में 47 गो-आश्रय स्थल है, जिसमें 6006 पशु संरक्षित है तथा सहभागिता योजना में 605 पशुओ को पशुपालको के सुपुर्द किया गया है। जिलाधिकारी ने माह दिसम्बर 2022 में स्थाई/अस्थाई गोवंश आश्रय स्थलो पर संरक्षित गोवंश के भरण पोषण मांग हेतु धनराशि अनुमोदन के सम्बंध में फाईल पस्तुत करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने विकास खण्ड मनिहारी मे ग्राम हरदासपुर काशी एवं विकास खण्ड देवकली के ग्राम सरौली में छुट्टा पशुओ के शिकायत पर फटकार लगाते हुए पशुओ को गोवंश आश्रय स्थलो पर संरक्षित करने का निर्देश दिया। इसके अतिरिक्त यदि कही भी इस तरह की शिकायत आती है तो सम्बन्धित पशु चिकित्साधिकारी एवं विकास खण्ड जिम्मेदार होगे। उन्होने सख्त निर्देश दिया कि जिन व्यक्तियो या पशु पालको द्वारा पशुओ को सड़को पर छोड़ा जाता है तो उसके विरूद्ध ततकाल कार्यवाही की करते हुए एफआईआर दर्ज कराया जाए। जिलाधिकारी मनरेगा अन्तर्गत निर्माणाधीन दो गो-आश्रण स्थलो को जिसमें चमड़ा गोदाम एवं जल्लापुर के सचालन न होने पर खण्ड विकास अधिकारी सदर को स्पष्टिकरण जारी करने का निर्देश दिया। उन्होने निर्देश दिया कि जनपद स्तर पर बनाये गए कन्ट्रोल रूम मे प्राप्त शिकायतो को तत्काल निस्तारण कराया जायें । जिलाधिकारी ने उपस्थित पशु चिकित्सकों एवं खण्ड विकास अधिकारियों से अब तक कितने पशुओ को चिन्हित कर पशुपालकों को सुपुर्द किए गए हैं एवं कितने पशुओ को आश्रय स्थल मे रखा गया है,जानकारी ली। उन्होंने पशु चिकित्सा अधिकारीयों को निर्देश दिया कि इस योजना में जरूरतमंद परिवारो को दुधारू पशुओ की सुपुर्दगी की जाए तथा उसका समय से भुगतान भी किया जाय।

उन्होने पशु चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया कि पशुओ की बराबर वेरिफिकेशन किया जाय। यदि किसी पशु के मृत्यु के बाद भी उसका भुगतान किया जाता है तो सम्बन्धित के विरूद्ध कार्यवाही तय है। उन्होने निर्देश दिया कि सहभागिता योजना के तहत पशुपालको मे दिए जाने वाले भुगतान समय से किया जाये। इसमे लापरवाही क्षम्य नही होगी। बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी,समस्त खण्ड विकास अधिकारी, समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद/पंचायत , एवं अन्य सम्बन्धित जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे

1 view0 comments

Comments


bottom of page