top of page
Search
  • alpayuexpress

व्यापारी नेता अशोक गुप्ता के आवास पर कार्यकर्ताओं एवं ग्रामीणों ने सुनी मन की बात।

व्यापारी नेता अशोक गुप्ता के आवास पर कार्यकर्ताओं एवं ग्रामीणों ने सुनी मन की बात।


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


जखनिया। आज मन की बात मोदी के साथ का 100वॉ संस्करण भाजपा मंडल जखनिया प्रथम के बूथ संख्या 203 पर व्यापारी नेता अशोक गुप्ता के आवास पर कार्यकर्ताओं एवं ग्रामीणों ने सुना। कार्यक्रम की शुरुआत सुबह ठीक 11 बजे हुई। उक्त अवसर पर भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष प्रमोद वर्मा ने कहा मन की बात विश्व का सबसे चाहेंता कार्यक्रम बन गया है जिसके माध्यम से करोडो लोग एक साथ प्रधानमंत्री मोदी से जुड़ते है और भारत के कोने कोने में किस प्रकार से नया कार्य हो रहा है उसको समझ पाते है और अपना विचार साझा करते है। प्रमोद वर्मा ने कहा "मन की बात सकारात्मकता का पर्व बन गया है।" ये मन की बात करोड़ों लोगों की मन की बात है। आज 100वे संस्करण पर प्रमुख समाजसेवी जय प्रकाश (पप्पू ) यादव ने कार्यकर्त्ताओ रेडिओ भेंट किया और लोगो से आग्रह किया कि मन की बात जरूर सुनें। मन की बात के 100वें एपिसोड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बातों को साझा करते हुए कहाकि, मन की बात कोटि-कोटि भारतीयों के मन की बात है। उनकी भावनाओं का प्रकटीकरण है। 3 अक्टूबर 2014 के दिन हमने मन की बात की यात्रा शुरू की। मन की बात में देश के कोने-कोने से लोग जुड़े। हर आयु-वर्ग के लोग जुडे़। पीएम मोदी ने चरैवेति चरैवेति-चरैवेति यानी चलते रहो-चलते रहो-चलते रहो की बात कही। उन्होंने कहा कि आज हम इसी चरैवेति-चरैवेति की भावना के साथ ‘मन की बात’का 100वां एपिसोड पूरा कर रहे हैं। हर एपिसोड में देशवासियों के सेवा और सामर्थ्य ने दूसरों को प्रेरणा दी है। मेरा अटूट विश्वास है कि सामूहिक प्रयास से बड़े से बड़ा बदलाव लाया जा सकता है। इस साल हम जहां आजादी के अमृतकाल में आगे बढ़ रहे हैं। वहीं जी-20 की अध्यक्षता भी कर रहे हैं। हमने स्वच्छ सियाचिन, सिंगल यूज प्लास्टिक और ई-वेस्ट जैसे गंभीर विषयों पर भी लगातार बात की है। आज पूरी दुनिया पर्यावरण के जिस मुद्दे को लेकर इतना परेशान है, उसके समाधान में मन की बात के प्रयास बहुत अहम है। मन की बात ने मुझे कभी आपसे दूर नहीं होने दिया। मुझे याद है जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था,तो वहां सामान्य जन से मिलना-जुलना स्वाभाविक रूप से हो ही जाता था, लेकिन 2014 में दिल्ली आने के बाद मैंने पाया कि यहाँ का जीवन तो बहुत ही अलग है। पचासों साल पहले मैंने अपना घर इसलिए नहीं छोड़ा था कि एक दिन अपने ही देश के लोगों से संपर्क ही मुश्किल हो जायेगा। जो देशवासी मेरा सब कुछ है, मैं उनसे ही कट करके जी नहीं सकता था। मन की बात जो बन गई देश की आवाज! जैसे लोग, ईश्वर की पूजा करने जाते हैं, तो प्रसाद की थाल लाते हैं, मन की बात मेरे मन की आध्यात्मिक यात्रा बन गया है। मन की बात' कोटि-कोटि भारतियों के मन की बात है। उनकी भावनाओं का प्रकटीकरण है। ये कार्यक्रम दूसरे के गुणों से सीखने का बड़ा माध्यम बन गया है। उक्त अवसर पर व्यापार प्रकोष्ठ अध्यक्ष प्रमोद वर्मा, ग्राम प्रधान नंदू गुप्ता, महामंत्री पियूष सिंह, धर्मवीर भारद्वाज, अशोक गुप्ता, विक्की शर्मा, मीनू यादव, अनिल कुशवाहा, बंटी गुप्ता, प्रकाश राम, चंदन सोलंकी, हरी राम, अच्छे गुप्ता, सौदागर मद्देशिया सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहें।

1 view0 comments

Comments


bottom of page