Search
  • alpayuexpress

रेलवे का बड़ा ऐलान: 22 मई से शताब्दी और दूसरी एक्सप्रेस ट्रेनों का शुरू होगा संचालन, वेटिंग टिकट पर




( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस-Alpayu Express)


मई गुरुवार 14-5-2020


रेलवे का बड़ा ऐलान: 22 मई से शताब्दी और दूसरी एक्सप्रेस ट्रेनों का शुरू होगा संचालन, वेटिंग टिकट पर कर सकेंगे यात्रा


*नई दिल्ली।* भारतीय रेलवे ने गुरुवार को एक बड़ा ऐलान करते हुए सर्कुलर जारी किया है। प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल और सामान्य यात्री ट्रेनों के बाद अब रेलवे देशभर में मेल, एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन चलाने की तैयारी में है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इन गाड़ियों में वेटिंग टिकट भी काटा जाएगा, लेकिन तत्काल या प्रीमियम तत्काल टिकट नहीं होगा। यह ट्रेन है आगामी 22 मई, 2020 से चलेंगी जबकि इनमें आगामी 15 मई से बुकिंग शुरू होगी। इनमें आईआरसीटीसी की वेबसाइट के जरिए ही बुकिंग होगी।


*रेलवे ने जारी किया सर्कुलर*


गौरतलब है कि देशभर में कोरोना वायरस के चलते लोग विभिन्न राज्यों में फंसे हुए।


प्रवासी मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाए जाने के बाद रेलवे अब यात्री ट्रेनों को भी जल्द पटरी उतारने वाली है लेकिन उससे पहल ही मंत्रालय की ओर से एक और बड़ा सर्कुलर जारी किया गया है। रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक जल्द ही मेल एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन भी देश के विभिन्न शहरों से चलाई जाएंगी।


बता दें कि यात्री ट्रेनों में आप वेटिंक टिकट पर यात्रा नहीं करत सकते थे लेकिन 22 मई से चलने वाली एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनों में वेटिंग टिकट पर भी यात्रा संभव होगी। हालांकि रेलवे ने अभी तत्काल या प्रीमियम तत्काल टिकट पर यात्रा की अनुमति नहीं दी है। साथ ही ट्रेन में फर्स्ट एसी या एक्सिक्युटिव क्लास के वेटिंग में 20 टिकट बुक किए जाएंगे, एसी सेंकड क्लास में 50 सीटें और एसी थर्ड क्लास में 100 सीटें वेटिंग लिस्ट में होंगी।


रेल मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया है कि श्रमिक स्पेशल और यात्री स्पेशल ट्रेनों की तरह ही मेल, एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनों में भी यात्रा के लिए टिकटों की बुकिंग सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट से ही होगी। 22 मई से चलाई जाने वाली इन ट्रेनों में शताब्दी स्पेशल और इंटर सिटी स्पेशल गाड़ियां भी शामिल हो सकती है। इन गाड़ियों में वेटिंग टिकट की लिस्ट बनाई जाएगी।


मालूम हो कि श्रमिक स्पेशल और यात्री स्पेशल ट्रेनों सिर्फ कन्फर्म टिकट पर ही यात्रा किया जा सकता है। वर्तमान में प्रवासी मजदूरों के उनके गृह राज्य पहुंचाने के लिए करीब 350 स्पेशल ट्रेनें देशभर में दौड़ रही हैं। कुछ दिनों पहले रेलवे ने पैसेंजर ट्रेन की शुरूआत का ऐलान किया था, जो दिल्ली से 15 शहरों के लिए चलाई जाएंगी। भारतीय रेलवे ने ट्वीट कर लिखा था कि भारतीय रेल धीरे धीरे कुछ यात्री ट्रेन सेवाओं की शुरुआत करने जा रही है।


एक पीएनआर पर सभी टिकटें हो सकती हैं कैंसिल

एक पीएनआर पर सभी टिकटें हो सकती हैं कैंसिल


गाइडलाइन में कहा गया है यदि स्क्रीनिंग के दौरान किसी यात्री के पास कोविद -19 आदि के बहुत अधिक तापमान या कोरोना का लक्षण है तो उसे कन्फर्म टिकट होने के बावजूद यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी। ऐसे मामले में, यात्री को पूर्ण वापसी प्रदान की जाएगी। गाइडलाइन कहा गया है कि एक ग्रुप टिकट पर अगर एक यात्री यात्रा करने के लिए अयोग्य पाया जाता है और उसी पीएनआर पर अन्य सभी यात्री भी यात्रा नहीं करना चाहते हैं, तो उस स्थिति में सभी यात्रियों के लिए पूर्ण वापसी की अनुमति दी जाएगी।


कंबल, चादर और तौलिया नहीं मिलेगा

कंबल, चादर और तौलिया नहीं मिलेगा


रेल गाड़ियों के रवाना होने से कम से कम एक डेढ़ घंटे पहले यात्रियों के रेलवे स्टेशन पर पहुंचना होगा। वहां उनके स्वास्थ्य की जांच के साथ-साथ प्रत्येक यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। बता दें कि स्पेशल ट्रनों में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने से रोकने के लिए इन ट्रेनों में यात्रा करने वालों को कंबल, चादर और तौलिया आदि नहीं दिया जा रहा है। पत्येग डिब्बों में सामान्य दिनों के मुकाबले अधिक तापमान रखा जाएगा और डिब्बों के भीतर ज्यादा से ज्यादा ताजा हवा की आवाजाही हो सके इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा।

1 view0 comments