top of page
Search
  • alpayuexpress

मुंशी प्रेमचंद जी की 143 वीं जयंती पर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा का विचार गोष्ठी एवं माल्यार्पण कार्य

मुंशी प्रेमचंद जी की 143 वीं जयंती पर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा का विचार गोष्ठी एवं माल्यार्पण कार्यक्रम हुआ सम्पन्न


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


ग़ाज़ीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी की 143 वीं जयंती के अवसर पर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा गाजीपुर के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में महासभा के जिला उपाध्यक्ष चन्द्र प्रकाश श्रीवास्तव जी के चकदराब स्थित आवास पर विचार गोष्ठी एवं माल्यार्पण कार्यक्रम आयोजित हुआ ।

इस गोष्ठी आरंभ होने के पूर्व महासभा के सभी कार्यकर्ताओं ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया और समाज में व्याप्त कुरीतियों और कुप्रथाओं के खिलाफ संघर्ष करने का संकल्प लिया ।

बतौर मुख्य वक्ता सहजानंद डिग्री कालेज के हिंदी के प्रवक्ता डॉ प्रमोद कुमार अनंग ने गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि आदर्शोन्मुख यथार्थवाद के रचनाकार मुंशी प्रेमचंद जी ने भारतीय संस्कृति का गहन अध्ययन किया था , वे न केवल ग्रामीण समाज के कुशल चित्रकार थे वरन नगरीय समाज की भी उन्हें अच्छी समझ थी । स्वतंत्रता के बाद भारत को जिस तरह से परखने , समझने और समाधान तक जाने की बागडोर अपने हाथ में ली वह अनुकरणीय है । हिंदी रचनाकारों में जितनी प्रसिद्धि गोस्वामी तुलसीदास जी की है उससे कहीं कम मुंशी प्रेमचंद की नहीं है ।

1 view0 comments

コメント


bottom of page