top of page
Search
  • alpayuexpress

मानवीय संवेदना की अनूठी मिसाल!...जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह ने लहूलुहान घायल युवक की बचाई जान,करा

मानवीय संवेदना की अनूठी मिसाल!...जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह ने लहूलुहान घायल युवक की बचाई जान,कराया जिला अस्पताल में भर्ती


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। ख़बर गाज़ीपुर जिले से है जहां पर जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह ने मानवीय संवेदना की अनूठी मिसाल पेश की है। सपना सिंह रविवार को मरदह में चल रहे स्वच्छता अभियान कार्यक्रम में भाग लेकर वापस सैदपुर स्थित अपने आवास पर जा रही थी। तभी महराजगंज रास्ते में उन्होंने एक घायल युवक शिवम दूबे को रोड पर लहूलुहान अवस्था में पड़ा हुआ देखा। तत्काल उन्होंने किसी भी बात की परवाह नहीं करते हुए अपने वाहन को रोका। उन्होंने खुद अपने वाहन से नीचे उतर कर रोड पर घायल अवस्था में पड़े शिवम दूबे को अपने ही वाहन से उपचार हेतु जिला अस्पताल ले गई। वक्त पर इलाज मिल जाने से शिवम अब खतरे से बाहर हैं। उधर दुर्घटना की सूचना मिलते ही जिला अस्पताल पहुंचे शिवम के परिजन जिला पंचायत अध्यक्ष की इस नेकदिली को लेकर भाव विभोर हो गए। दरअसल शिवम दूबे को किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी थी। जिसके कारण वह गंभीर रूप से घायल हो कर रोड पर ही पड़ा हुआ था। इस दौरान नाही कोई एम्बुलेंस और नाही कोई भी व्यक्ति उसकी मदद को आगे आया। लेकिन जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह की इस सराहनीय कार्य से लोगों में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। अगर वो ऐसा नहीं करती तो शिवम की जान भी जा सकती थी। बहरहाल वक्त पर पहुंच जाने के बाद जिला अस्पताल के डॉक्टर ने तुरंत शिवम का इमरजेंसी ट्रीटमेंट शुरू कर दिया। जिसकी वजह से वो अब खतरे से बाहर हैं। यह कहने की जरूरत नहीं कि जिला पंचायत अध्यक्ष ने मानवता की अनूठी मिसाल कायम की है। उन्होंने शिवम की जान बचाने में अहम भूमिका निभाकर जिले के बाकी नेताओं के लिए एक नजीर पेश की है। दिए गए पद और पावर का इस्तेमाल अगर जनता के हित में हो तो लोकतंत्र की गरिमा और बढ़ती है। शिवम दूबे और उसके परिजन सपना सिंह की इस दरियादिली को आखिरी सांस तक याद रखेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह ने किसी भी प्रकार की सड़क दुर्घटना में लोगों से आत्मीयता के भाव रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि यही मानवता का धर्म है।

4 views0 comments

Comments


bottom of page