top of page
Search
  • alpayuexpress

मनोवैज्ञानिक प्रो.अमरनाथ राय ने अभिभावकों-शिक्षकों को किया संबोधित!...किशोर वय की समस्याएं” विषय पर

गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


मनोवैज्ञानिक प्रो.अमरनाथ राय ने अभिभावकों-शिक्षकों को किया संबोधित!...किशोर वय की समस्याएं” विषय पर आयोजित हुई कार्यशाला


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। बच्चों और किशोरवय के विद्यार्थियों में यदा-कदा डिस्लेक्सिया, ऑटिज़्म और एडीएचडी जैसे मनोविकारों के लक्षण दिखते हैं। माता पिता को इन लक्षणों के दिखते ही सतर्कता और सावधानी पूर्वक अपने बच्चों के इन विकारों को दूर करने के लिए प्रयास करना चाहिए। यह बातें नगर के तुलसी सागर स्थित न्यू होराइजन अकादमी के रिपब्लिक हाल में रविवार को ”किशोर वय की समस्याएं” विषय पर आयोजित कार्यशाला में प्रख्यात मनोवैज्ञानिक प्रो. अमरनाथ राय ने अभिभावकों-शिक्षकों को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि मानसिक विकारों को दूर करने के लिए हमे चिकित्सकों के साथ-साथ कौन्सिलर्स की भी सहायता लेनी चाहिए। कार्यशाला में अपना व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए श्वेता सिंह ने डिस्लेक्सिया के चलते उच्चारण तथा लिखावट की त्रुटियों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रायः समय के साथ-साथ इन परेशानियों का निदान हो जाता है, फिर भी इस प्रकार के बच्चों का अत्यंत सावधानी पूर्वक देखरेख किये जाने की आवश्यकता है। उन्होंन डिस्लेक्सिया की समस्या से जूझ रहे बच्चों के पालन-पोषण में धैर्य तथा थेरेपी की आवश्यकता पर बल दिया। कार्यशाला में एक प्रश्नोत्तर सत्र का भी आयोजन किया गया। उपस्थित अभिभावकों ने अपने बच्चों के संबंध में प्रश्न पूछे, जिनका मनोवैज्ञानिक विशेषज्ञों ने समाधात्मक उत्तर प्रस्तुत किया। इस अवसर पर डा. यशवंत सिंह, प्रो. अजय राय, प्रिया शुक्ला, किरनबाला राय, सीमा राय, सुनीता मिश्रा, सारिका राय, आराधना, नीरज उपाध्याय आदि मौजूद थे। अंत में एकेडमी की प्रिंसिपल संगीता पांडेय ने विशेषज्ञ वक्ताओं तथा अभिभावकों एवं शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त किया।

1 view0 comments

Comments


bottom of page