top of page
Search
  • alpayuexpress

भगवान भरोसे चलता रहा उप केंद्र डॉक्टर सहित फरमासिस्ट भी रहे ड्यूटी से नदारद।

भगवान भरोसे चलता रहा उप केंद्र

डॉक्टर सहित फरमासिस्ट भी रहे ड्यूटी से नदारद।


सुभाष कुमार पत्रकार


गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर सरकार ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य के लिए लगातार तरह-तरह की मुहिम चला रही है की आम जनता को उनकी स्वास्थ्य के प्रति उन्हें किसी भी परेशानियों का सामना न करना पड़े । तनिक भी दिक्कत होने पर तुरंत आसानी से इलाज मिल सके इसके लिए पूरे जिले में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के बावजूद भी ग्रामीण इलाकों में जगह जगह पर उप स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्था किया गया है की लोगों को तत्काल इलाज मिल सके। लेकिन स्वास्थ्य विभाग के लापरवाह डॉक्टरों सहित फार्मासिस्ट ने सरकार की मंशा पर पानी फेरते नजर आ रहे हैं। आपको बता दें की यह मामला कासिमाबाद क्षेत्र के अलावलपुर नया प्राथमिक उप स्वास्थ्य केंद्र अफगां का है।

आपको बता दें की डॉक्टरों सहित फार्मासिस्टों की शिकायतें लगातार मिल रही थी की अपने ड्यूटी पर नहीं आते हैं । इस बात की पुष्टि के लिए जब पत्रकारों ने उप स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचे तो वहां पर केवल दो निचले स्तर के कर्मचारी मौजूद रहे आपको बता दें की यहां पर कूल तैनात कर्मचारियों की संख्या 8 है।जिसमें 2 डॉक्टर तथा 2 फार्मासिस्ट सहित। कुल 8 लोगों की ड्यूटी लगाई गई है। ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारियों से जानकारी लिया गया की बाकी कर्मचारी कहां हैं तथा डॉक्टर एवं फार्मासिस्ट सहित कितने लोगों की आज ड्यूटी यहां पर है। ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारियों ने बताया की कुछ लोग छुट्टी पर हैं और कुछ कर्मचारी गाजीपुर गए हैं और एक डॉक्टर की ड्यूटी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कासिमाबाद में लगी है। इस बात की जानकारी के लिए पत्रकारों ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कासिमाबाद के प्रभारी से बात किया तो उन्होंने बताया की अलावलपुर उप स्वास्थ् केंद्र के किसी भी डॉक्टर की यहां पर ड्यूटी नहीं लगी है। आप लोगों के माध्यम से ही पता चला है की डॉक्टर सहित फार्मासिस्ट मौजूद नहीं है। इस तरह की शिकायतें कुछ दिन पहले भी हमारे पास आई थी लेकिन मौखिक होने के कारण उनके ऊपर कोई कार्रवाई नहीं कर पाए थे लेकिन आप लोगों के माध्यम से इस तरह की शिकायत मिली है तो जांच करवाकर इन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएंगी। आपको बता दें की कुछ सप्ताह पहले जिले में नवागत मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कारभार संभालते ही बिरनो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचे तो वहां लगभग 12 कर्मचारीयों की अनुपस्थिति पाई गई थी । तब मुख्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा तत्काल प्रभाव से उनके ऊपर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया था मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कड़े निर्देशों के बावजूद भी जिम्मेदार डॉक्टर सहित कर्मचारियों की अनुपस्थिति पर सवालों निशान खड़ा हो रहा है ऐसे में अब यह देखना है की इन लापरवाह डॉक्टर सहित कर्मचारियों के खिलाफ स्वास्थ् विभाग के आला अफसरों के द्वारा किस तरह की कार्रवाई की जाती है।

5 views0 comments

Comments


bottom of page