top of page
Search
  • alpayuexpress

बहरियाबाद थाने पर पीड़ित की समस्या का नहीं होता है समाधान !...बहरियाबाद थाना प्रभारी थाने पर पीड़ित

बहरियाबाद थाने पर पीड़ित की समस्या का नहीं होता है समाधान !...बहरियाबाद थाना प्रभारी थाने पर पीड़ित परिवार से कर रहा है राजनीति


⭕बहरियाबाद थाना प्रभारी से थाने पर पीड़ित परिवार को समाधान नहीं समस्या मिलती हैं


आदित्य कुमार सीनियर क्राइम रिपोर्टर


गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले के थाना बहरियाबाद अंतर्गत नादेपुर से है जहां पर पीड़ित की समस्या को कोई सुनना नहीं चाहता समाधान तो दूर की बात है ,लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री लगातार संबंधित मामले के अधिकारियों को यह अवगत कराते हुए नजर आ रहे है ,कि कोई भी घटना छोटी नहीं होती है ,सबसे कुछ न कुछ सीख मिलती है हर घटना की गंभीरता को समझें और वरिष्ठ अधिकारी स्वयं मौके पर पहुंचे और हर फरियादी को सम्मान दें उनकी पीड़ा सुने और यथोचित समाधान प्रदान करें लेकिन मुख्यमंत्री के आदेशों के अनुपालन उनके कर्मचारी धरातल पर कितने कर रहे हैं यह तो थाना बहरियावाद की पुलिस ही बता सकती है बीते दीन पूर्व में पीड़ित के बिजली का केबल गैर कानूनी तरीके से काटे जाने के बाद भी आज तक नहीं किसी पर मुकदमा हुआ और नहीं पीड़ित के घर में लाइट जली जबकि बिजली विभाग के भी कई अधिकारियों को भी मामला संज्ञान में डाला गया लेकिन आज भी उनके कान पर जू नहीं रेंग रहा है अगर थाना बहरियाबाद के पुलिस विभाग चाहता तो समस्या को तुरंत समाधान कर देता लेकिन वहां तो राजनीति ही हो रही है जब पीड़ित द्वारा पहली बार शिकायत लेकर थाने पर जाया गया तो थाना के प्रभारी केपी सिंह ने कहा कि जाइए एसडीएम जखनिया से आदेश लेकर आईए तब बिजली का तार जोड़ा जाएगा किसी तरह से एसडीएम साहब का परमिशन लेकर थाना प्रभारी को दिया लेकिन आज तक थाना प्रभारी केपी सिंह मौके पर नहीं गए और नहीं मामले को समझना चाहा और नहीं विपक्षी के ऊपर कोई भी आज तक कार्रवाई किया क्योंकि बिजली का तार किसी को भी काटने का अधिकार नहीं है यहां पर तो गैर कानूनी तरीके से भी काट दिया गया लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई नहीं पीड़ित के घर उजाला आया पीड़ित ने बताया कि लाइट बिजली न आने से परिवार में पढ़ने वाले बच्चे का भी जीवन बाधित हो रहा है और पशुओं को पानी पिलाने नहलाने में भी समस्या उत्पन्न हो रही है जरा सोचिए कि एक दिन जब किसी के घर में बिजली नहीं जलता है तो कितनी समस्या उत्पन्न हो जाती है यहां तो दो हफ़्ते होने वाले हैं सोचिए उसे पीड़ित परिवार की ऊपर कितनी बड़ी समस्या होगी अगर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशों की अनुपालन नहीं हो रहा है तो यह कहना भी उचित होगा कि मुख्यमंत्री के आदेशों की बहरियाबाद थाना के प्रभारी पूरी तरह से धज्जियां उड़ा रहे हैं।

2 views0 comments

Comentarios


bottom of page