top of page
Search
  • alpayuexpress

फर्जी गिरफ्तारी पर चली गई कुर्सी!...रात भर पैरवी, फिर भी नहीं बची थानेदारी, थानाध्यक्ष हो गए लाइन हा

फर्जी गिरफ्तारी पर चली गई कुर्सी!...रात भर पैरवी, फिर भी नहीं बची थानेदारी, थानाध्यक्ष हो गए लाइन हाजिर


अमित उपाध्याय मंडल ब्यूरो चीफ


चंदौली- धानापुर थाना क्षेत्र के डबरिया गांव में पिछले दिनों एक युवक को घर से उठाकर ले जाने के बाद अवैध गांजा, असलहा और चोरी की मोटरसाइकिल की बरामदगी दिखाकर फर्जी तरीके से सकलडीहा सीओ राजेश कुमार राय द्वारा झूठा बयान देकर फर्जी खुलासा करने के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ जिसमें कि यह दिखाया गया कि गिरफ्तारी और युवक को ले जाते समय तथा खुलासा करते समय भी एक ही कपड़ा पहना दिख रहा है। वहीं परिजनों ने भी आरोप लगाया कि गलत तरीके से दानापुर थानाध्यक्ष द्वारा खुन्नस बस बदला लेने के लिए जेल भेजा गया। वही गिरफ्तार किए गए निर्दोष युवक की मां फूट-फूटकर रोते हुए न्याय की गुहार लगाती रही।

वही मामला उच्चाधिकारियों तक पहुंचने के बाद एसपी अंकुर अग्रवाल ने पूरे मामले की जांच एडिशनल एसपी सदर को सौंपी थी। जिसके बाद यह मामला आईजी जोन वाराणसी के सत्यनारायण तक जा पहुंचा। जहां आईजी ने तत्काल इस मामले में कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए।

जिसके बाद आईजी के सतनारायण के निर्देश पर एसपी अंकुर अग्रवाल ने मुछें टाइट कर तुर्रम खान बनाने वाले तत्काल प्रभाव से धानापुर के थानाध्यक्ष विपिन सिंह को लाइन हाजिर कर दिया। वहीं अन्य आरोपी पुलिसकर्मियों पर जांच चल रही है। जांच में दोषी पाए जाने पर सभी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। आपको बताते चलें कि अपनी कुर्सी बचाने के लिए एसपी आवास पर रात भर थानाध्यक्ष विपिन सिंह अपनी पैरवी करते रहे लेकिन उसके बावजूद भी उनकी थानेदारी नहीं बच पाई।

हालांकि अब देखने वाली बात यह है कि आखिरकार मामले में और भी कितने दोषी पाए जाने वाले पुलिसकर्मियों पर और कब तक कार्यवाही हो पाती है।

2 views0 comments

Comments


bottom of page