Search
  • alpayuexpress

पंजाब पुलिस का हरजीत सिंह को अनूठा सम्मान, DGP समेत 80 हजार पुलिसकर्मियों ने पहना उनके नाम का बैच, ल




( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार की रिपोर्ट )


पंजाब पुलिस का हरजीत सिंह को अनूठा सम्मान, DGP समेत 80 हजार पुलिसकर्मियों ने पहना उनके नाम का बैच, लगाए ‘मैं वी हां हरजीत सिंह’ के नारे


चंडीगढ़: पीजीआइ चंडीगढ़ में भर्ती एसआइ हरजीत सिंह के सम्मान में आज पंजाब पुलिस के 80 हजार जवानों ने ‘मैं वी हां हरजीत सिंह’ का नारा लगाया। सभी पुलिसकर्मियों के सीने पर नेम प्लेट भी एक ही थी, यानि पंजाब पुलिस का हर जवान एसआई हरजीत सिंह की बहादुरी को अनूठे ढंग से सलाम कर रहा है।


इतना ही नहीं, खुद डीजीपी दिनकर गुप्ता के सीने पर भी हरजीत सिंह के नाम की प्लेट लगी हुई देखी गई। एएसआई हरजीत सिंह इस समय चंडीगढ़ पीजीआई में भर्ती हैं। 12 अप्रैल को पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने के दौरान भड़के निहंगों ने हरजीत सिंह पर तलवार से हमला करके उनके हाथ की कलाई काटकर अलग कर दी थी। हालांकि, बाद में पीजीआई के डॉक्टरों ने सात घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद कलाई को जोड़ दिया था।


डीजीपी दिनकर गुप्ता ने हरजीत सिंह के साथ हुए हादसे के मद्देनज़र कोरोना वॉरियर्स के प्रति सम्मान दिखाने के लिए ‘मैं भी हरजीत’ कैंपेन चलाया है। उन्होंने कहा, ‘हरजीत सिंह पुलिस और दूसरे फ्रंटलाइन वर्कर्स पर हो रहे हमले के खिलाफ सिंबल बन चुके हैं। इस मौके पर डीजीपी ने हरजीत सिंह के समर्थन में एक दिन के लिए उनके नाम का बैच अपनी यूनिफॉर्म में लगाया। डीजीपी ने आगे बताया, ‘हरजीत सिंह को प्रमोट कर ASI से सब-इंस्पेक्टर बना दिया गया है। उनके प्रति सम्मान दिखाने के लिए ये पंजाब पुलिस का एक छोटा सा प्रयास है।’ सभी पुलिसकर्मी अपनी वर्दी पर हरजीत सिंह के नाम का बैच लगाकर ड्यूटी दे रहे हैं। इसके साथ ही ‘मैं वी हां हरजीत सिंह’ (मैं भी हूं हरजीत सिंह) के नारे भी लगा रहे हैं।


पीजीआइ में उपचाराधीन एसआइ हरजीत सिंह इस सम्मान से बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि मुझे जीवन भर याद रहने वाला ऐसा सम्मान मिलेगा। मैं डीजीपी, एसएसपी साहब सहित पूरी फोर्स व लोगों का आभारी हूं। मैने जिंदगी में किसी को कभी ऐसा सम्मान मिलते नहीं देखा, सबका शुक्रिया।’ वहीं, पीजीआइ के डॉक्टरों का कहना है कि हरजीत सिंह की हालत में लगातार सुधार हो रहा है।

2 views0 comments