Search
  • alpayuexpress

पांच शिक्षकों पर गिरी गाज, इस आरोप में हुए बर्खास्त………दर्ज होगा मुकदमा, वेतन होगी वसूली




( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस-Alpayu Express)


मई बुधवार 13-5-2020


पांच शिक्षकों पर गिरी गाज, इस आरोप में हुए बर्खास्त………दर्ज होगा मुकदमा, वेतन होगी वसूली


उत्तर-प्रदेश /वाराणसी/ सोनभद्र

को फर्जीवाड़ा करने वाले पांच अध्यापकों की सेवा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने समाप्त कर दिया। इन अध्यापकों ने फर्जी डिग्री के आधार पर नौकरी हासिल की थी। एसआइटी की जांच में इसकी पोल खुल गई। इसे देखते हुए संबंधित अध्यापकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के साथ नियुक्ति तिथि से अब तक किए गए वेतन भुगतान की वसूली का निर्णय लिया गया है। बीएसए राकेश सिंह ने बेसिक शिक्षा के वित्त व लेखाधिकारी से वेतन आदि मदों पर किए गए भुगतान का विवरण मांगा है।


बता दे कि शासन ने परिषदीय विद्यालयों नियुक्त अध्यापकों की उपाधियों जांच करने का जिम्मा विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) सौंपा था। इस क्रम में एसआइटी ने डा. भीमराव आंबेडकर विवि (आगरा) से बीएड करने वाले अध्यापकों की जांच पूरी की। जांच में फर्जी डिग्री वाले अध्यापकों के खिलाफ कार्रवाई के लिए एसआइटी ने शासन को पत्र लिखा था।


इसके तहत गत दिनों विभिन्न जिलों में फर्जी डिग्रीधारक अध्यापकों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई थी। इसमें चार अध्यापक अंतरजनपदीय स्थानांतरण के तहत सोनभद्र में तैनात थे। सोनभद्र बीएसए द्वारा बर्खास्त किए जाने के बाद इन अध्यापकों ने उच्च न्यायालय की शरण ली थी और स्टे पर पुन: नौकरी करने बनारस आ गए। स्टे खारिज होने के बाद वाराणसी के बीएसए ने पांचों अध्यापकों की सेवा तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी। बीएसए ने बताया कि एसआइटी द्वारा जांच में पांचों अध्यापकों की बीएड की उपाधि फर्जी मिली। इन अध्यापकों ने डा. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के नाम की फर्जी डिग्री लगाई थी।

1 view0 comments