top of page
Search
  • alpayuexpress

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस पर!...109 गर्भवती महिलाओं का हुआ जांच, 11 एचआरपी महिलाएं हुए चिन्

मोहमबाद/गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस पर!...109 गर्भवती महिलाओं का हुआ जांच, 11 एचआरपी महिलाएं हुए चिन्हित


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। सुरक्षित मातृत्व दिवस भारत सरकार और स्वास्थ्य विभाग के एक महत्वाकांक्षी योजना है। जिसके माध्यम से गर्भवती महिलाओं का प्रसव पूर्व जांच एवं उचित प्रबंधन को लेकर प्रत्येक माह के 9 एवम 24 तारीख को आयोजन किया जाता है। जिसके तहत गुरुवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहमबाद पर प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें 109 महिलाओं का जांच एवं 11 एचआरपी महिलाओं को चिन्हित कर उन्हें उचित प्रबंधन की जानकारी दी गई।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहम्मबाद के अधीक्षक डॉ आशीष राय ने बताया कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस का आयोजन प्रत्येक माह के 9 एवम 24 तारीख को जनपद के सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर आयोजित किया जाता है। उसी के क्रम में मोहमदाबाद पर भी आयोजित किया गया है। इस अवसर पर स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाली गर्भवती महिलाओं को उनके स्वास्थ्य को बेहतर रखरखाव और सुरक्षित प्रसव को लेकर स्वास्थ्य केंद्रों पर महिला डॉक्टर के द्वारा जांच एवं परामर्श किया गया। जिसके तहत महिला चिकित्साधिकारी डॉ नीरज कुमार मौर्य के द्वारा109 गर्भवती महिलाओं की जांच की गई जांच में कुल 11 एचआरपी महिलाएं भी चिन्हित की गई हैं। जिन्हें उचित प्रबंधन के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं।

ब्लॉक कार्यक्रम प्रबंधक संजीव कुमार ने बताया की स्वास्थ्य केंद्र पर आईसीटीसी कक्ष में एलटी इकराम के द्वारा महिलाओं की एचआईवी, सिफलिश जांच की गई तथा काउंसलर निरा राय के द्वारा सभी को सुरक्षित प्रसव को लेकर काउंसलिंग किया गया। एलए ओमप्रकाश के द्वारा हीमोग्लोबिन जांच, ब्लड गुप , एल्बुमिन, प्रोटीन इत्यादि जांच की गई। स्टाफ नर्स वंदना मसीह द्वारा सभी को प्रसव से पूर्व उन्हें किन बातों की सावधानी बरतनी चाहिए इस बारे में विस्तृत रूप से बताया गया।

चिन्हित महिलाओं को क्षेत्रीय आशा तथा आशा संगीनी एवं एएनएम के माध्यम से इन महिलाओं की नियमित ट्रैकिंग किया जाता है। जिससे इनका सुरक्षित प्रसव कराया जा सके।इस सेवा हेतु नियमित रूप से 102 नेशनल ऐम्बुलेंस सेवा के माध्यम से घर से संस्था एवं चिकित्सा इकाई से सुरक्षित घर तक ले जाना मुख्य कार्य है। जो सभी एच आर पी चिन्हित महिलाओं के लिए किया जाता है। सभी एएनसी हेतु महिलाऐ अपना एमसीपी कार्ड साथ लेकर आती है जिसपे एचआरपी चिन्हित की दशा में एचआरपी मोहर लगाकर प्रसव पूर्व सभी दि जाने वाली समस्त सेवाओं का अंकन उसी एमसीपी कार्ड पर किया गया। जिससे क्षेत्र या अन्य किसी संस्था पर जाने पर सेवाओं को देने में आसानी एवं सुलभ हो।

1 view0 comments

コメント


bottom of page