top of page
Search
  • alpayuexpress

पुलिस आयुक्त से गुहार लगाने के बाद भी खुलेआम घूम रहा है बलात्कारी,नही हुई कोई कार्यवाई

पुलिस आयुक्त से गुहार लगाने के बाद भी खुलेआम घूम रहा है बलात्कारी,नही हुई कोई कार्यवाई


⭕आरोपी पीड़िता को दे रहा है जान से मारने की धमकी, कई बार करा चुका है गर्भपात


⭕पीड़िता ने कहा नही मिला न्याय तो दे दूंगी जान, मारपीट की प्रार्थमिकी दर्ज़

राजकुमार बेनबंशी पत्रकार


वाराणसी। पुलिस आयुक्त कमिश्नरेट से गुहार लगाने के बाद भी बलात्कारी युवक विकास यादव खुलेआम घूम रहा है और पीड़िता को सामाजिक रूप से बदनाम करने के साथ ही उसे लगातार जान से मारने की धमकी दे रहा है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुलिस कितनी तत्परता से किसी भी संगीन मामलों में पीड़ितों को न्याय दिला रही है। उपरोक्त आपबीती गम्भीर बातें सोमवार को पीड़िता ने एक प्रेसवार्ता के दौरान मीडियाकर्मियों को बताई। उसने कहा कि यदि उसे अविलंब न्याय और आरोपियो को सजा नही मिली तो मजबूर होकर वह अपनी जान दे देगी। जिसकी सारी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी। बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में बलात्कार, मारपीट, जान से मारने की धमकी मिलने की शिकार हुई पीड़ित युवती कई दिनों से पुलिस आयुक्त कार्यालय का बार- बार चक्कर लगा रही है और प्रार्थना पत्र देकर के आरोपी बलात्कारी युवक विकास यादव पुत्र दिलीप यादव एवं अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने और उन्हें सलाखों के पीछे भेजने के साथ ही न्याय की गुहार लगा रही है। लेकिन पुलिस है कि अपनी पुराने ढर्रे पर ही चल रही है और पीड़ित युवती दर-दर भटकने को मजबूर बनी हुई है। गौरतलब है कि बीते दिनों पांडेयपुर-लालपुर थाना अंतर्गत दौलतपुर, पहड़िया निवासिनी एक पीड़ित युवती ने पुलिस आयुक्त से लिखित शिकायत की है कि उसके साथ मंगलागौरी मंदिर भैरवनाथ, चौखम्भा क्षेत्र निवासी तथाकथित बलात्कारी युवक विकास यादव पुत्र दिलीप यादव बीते 11 वर्षों से लगातार बलात्कार करता आ रहा है। जब वह शादी करने के लिए अनुरोध करने लगी तो उसके मुँह पर तेजाब फेंकने और जान से मारने की धमकी देते हुए मारपीट कर भगा दिया। पीड़िता ने लिखित आरोप लगाया है कि बलात्कारी युवक कई बार उसका गर्भपात भी करवा चुका है और शादी करने की बात करने पर वह आग बबूला हो जाता है और उसे जान से मारने की धमकी दे रहा है। पीड़िता अपने अधिवक्ताओं श्याम मनोहर सिंह, रविन्द्र प्रताप सिंह एवं अन्य के साथ पुलिस आयुक्त कमिश्नरेट के यहां प्रार्थना पत्र देकर गुहार भी लगा चुकी है लेकिन कोई कार्यवाही नही होने से दुःखी है। उसने यह भी आरोप लगाया है कि तथाकथित बलात्कारी युवक विकास यादव खुद तो बलात्कार करता ही था अपने दोस्तों के साथ भी पीड़िता को हमबिस्तर होने के लिए मजबूर करता था। इसका विरोध करने पर पीड़िता के साथ मारपीट, गाली-गलौज और जान से मारने की धमकी देना आम बात हो चुकी है। पीड़िता ने पुलिस आयुक्त से गुहार लगाई है की आरोपी युवक विकास यादव पुत्र दिलीप यादव से उसकी शादी करवाई जाय और उसके जानमाल की रक्षा की जाए। यदि शादी नही होती है तो आरोपी बलात्कारी युवक विकास यादव एवं उसके अन्य बलात्कारी साथियों को तत्काल गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा जाए ताकि उसे न्याय मिल सके। पीड़िता ने यह भी कहा कि आरोपी विकास यादव काफी मनबढ़ प्रवृत्ति का है और सट्टेबाजी और जुआ खिलवाने का अवैध धंधा करता है। कहता है कि पुलिस विभाग को हर महीने मोटी रकम देता हूं, कानून व्यवस्था को जेब में रखता हूँ मेरा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता है। इसीलिए मेरे साथ कोई कानूनी कार्यवाही भी नही होगी। जो कार्यवाई करने आएगा उसका अंजाम भी बहुत बुरा कर दूंगा। पीड़िता ने यह भी बताया कि उसका ननिहाल कोतवाली थाना क्षेत्र के पंचगंगा घाट में है। यहीं रहते हुए वह वर्ष 2011 में बुलानाला स्थित अग्रसेन पीजी कालेज में स्नातक की पढ़ाई कर रही थी। इसी दौरान ननिहाल के पड़ोसी युवक विकास यादव पुत्र दिलीप यादव के सम्पर्क में आ गई। बात बढ़ी तो शादी का झांसा देकर विकास यादव ने उससे बलपूर्वक शारिरिक संबंध बना लिया। बात गोपनीय रहे इसलिए विकास ने शादी करने की बात कही और लगातार 11 वर्षो से उसका बलात्कार करता रहा। पीड़ित के आरोप से संबंधित प्रकरण के बाबत जब तथाकथित बलात्कार, मारपीट के आरोपी विकास यादव से बातचीत कर उसका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो उसने पूरी घटना को ही सिरे से खारिज करते हुए उसे षड्यंत्र बताया। जबकि पीड़िता पत्रकारवार्ता के दौरान फूट फुटकर रोने लगी। उसने रोते हुए बताया कि उसके साथ विकास यादव पुत्र दिलीप यादव ने 11 वर्षों तक लगातार जबरन बलात्कार किया और कई बार उसका गर्भपात भी करवाया है । जब पीड़िता ने उस बलात्कारी आरोपी से शादी करने के लिए कहा तो पहले तो उसने पीड़िता को नाबालिग होने की बात करके टालता रहा और बाद में शादी करने से ही इंकार कर दिया। जब पीड़िता ने शादी करने के लिए अनुरोध किया और कहा कि अब उसे समाज कैसे स्वीकार करेगा, वह तो बर्बाद हो चुकी है, तो आरोपी विकास यादव ने पीड़िता को मुंह बंद कर सारी बातें भूल जाने का दबाव बनाया और धमकी दिया कि जिस दिन यह बात सार्वजनिक होगी तुम्हारी हत्या कर/करवा दूंगा। पीड़िता काफी डरी सहमी हुई है। बावजूद इसके मनबढ़ आरोपी उसे बार-बार बुलाकर उसके साथ खुद बलात्कार करता रहा और साथ ही अन्य लोगों के साथ भी हमबिस्तर कराता रहा। इसका विरोध करने पर आरोपी विकास यादव कई बार पीड़िता को मारा पीटा भी जैसा कि पीड़िता ने मीडिया कर्मियों को बताया। पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया है कि आरोपी उसके साथ अप्राकृतिक संबंध भी जबरदस्ती बनाता था इसका विरोध करने पर उसे मारा-पीटा जाता रहा है। पीड़िता ने एक प्रश्न के उत्तर में यह भी बताया कि आरोपी विकास यादव अपने दोस्त संदीप यादव से भी कई बार मेरा बलात्कार करवा चुका है। उसका दोस्त संदीप यादव भी विकास यादव के साथ सट्टेबाजी और जुआ खिलवाने का ही काम करता है। पीड़िता ने जो प्रार्थना पत्र पुलिस आयुक्त को दिया है उसमें स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि विकास यादव ने उसके साथ कई-कई दिनों तक बंधक बनाकर जबरिया बलात्कार किया और विरोध करने पर मारपीट करता रहा।इसी बीच पीड़िता कई बार गर्भवती हो गई तो विकास यादव ने उसे जबरन गाली गलौज एवं जान से मारने की धमकी देते हुए गर्भनिरोधक की दवा खिलाकर उसका गर्भपात भी करवाता रहा। इस दौरान जब भी पीड़िता शादी करने की बात करती तो विकास यादव कोई न कोई बहाना बनाकर उसे टाल देता रहा। प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि तथाकथित बलात्कारी विकास यादव पिछले 11 वर्षों से उसका शारीरिक एवं मानसिक शोषण करता चला आ रहा है। बताते चले कि पीड़िता पंचगंगा घाट स्थित ननिहाल में रहकर पढ़ती थी वहीं से आरोपी युवक विकास यादव के चंगुल में फंस गई तभी से वह उसका मानसिक, शारिरिक शोषण एवं बलात्कार कर रहा है। इसी सन्दर्भ में मामले में समझौता नही करने पर दिनांक 20/07/2023 को पीड़िता का दूर का रिश्तेदार थाना चेतगंज निवासी सुमित जायसवाल अपने आधा दर्जन सहयोगियों के साथ देर शाम आया और पीड़िता के घर में घुसकर उसके परिजनों के साथ मारपीट, गाली गलौज, तोड़फोड़, अश्लील हरकत, छेड़खानी एवं लूटपाट करने के साथ ही जान से मारने की धमकी भी दिया है। पूरे प्रकरण की प्रार्थमिकी लालपुर/ पांडेयपुर थाने में दर्ज किया गया है। अब देखने वाली बात यह है कि महिला सुरक्षा, सम्मान पर योगी सरकार कितनी जिम्मेदारी से काम करती है। क्या वाक़ई में बलात्कार, मारपीट और अन्य संगीन अपराध का आरोपी विकास यादव, संदीप यादव, सुमित जायसवाल समेत अन्य अज्ञात लोग वास्तव में बहुत पहुंच वाले है या फिर योगी आदित्यनाथ की सरकार उन सभी के खिलाफ भी शीघ्र कोई उचित कार्यवाही करती है।

32 views0 comments

コメント


bottom of page