top of page
Search
  • alpayuexpress

न्यायसंगत समस्याओं के समाधान हेतु मसाल जुलूस!...उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के चेयरमैन के खिलाफ विद्

गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


न्यायसंगत समस्याओं के समाधान हेतु मसाल जुलूस!...उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के चेयरमैन के खिलाफ विद्युत कर्मियों ने खोला मोर्चा।


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वाधान में बिजली कर्मचारियों ,अवर अभियंताओं व अभियंताओं की न्यायसंगत समस्याओं का समाधान हेतु मसाल जुलूस निकाला गया। जिसमे ऊर्जा निगमों के बिजली कर्मचारियों और अभियंताओं की ज्वलंत समस्याओं से समाधान हेतु दिनांक 17 नवंबर 2022 से लगातार शांति पूर्वक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं किंतु प्रबंधन का हठवादी व दंडात्मक रवैया बना हुवा है जिससे बिजली कर्मियों में भारी गुस्सा है।

वही जिला संयोजक निर्भय नारायण सिंह ने बताया कि सभी बिजली कर्मियों /सेवानिवृत कर्मियों को कैशलेश इलाज की सुविधा प्रदान की जाय,हाल ही जारी किए गए ट्रांसफॉर्मर वर्कशॉप के निजीकरण के आदेश वापस लिए जाए,वही वर्ष 2000 के बाद ऊर्जा निगमों की सेवा में आए समस्त कार्मिकों के लिए पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल की जाय। तथा सभी ऊर्जा निगमो के समस्त कार्मिकों की सुरक्षा हेतु पावर सेक्टर इम्प्लाइज प्रोटेक्शन एक्ट लागू किया जाय। वही बिजली कर्मियों को एलएमभी 10 की सुविधा जारी रखा जाय वही समस्त बिजली कर्मियों /निविदा कर्मियों,संविदा कर्मियों को पिछले कई वर्षों से लंबित बोनस का भुगतान किया जाय।

वही सह संयोजक अभिषेक राय ने कहा कि तेलगाना,पंजाब,दिल्ली,उड़ीसा सरकार के आदेश के भांति ऊर्जा निगमों के समस्त संविदा/निविदा कर्मियों को नियमित किया जाय। वाह्यय सेवा प्रदाता द्वारा संविदा कर्मियों के ईपीएफ भुगतान में किए गए घोटाले की उच्च स्तरीय जांच की जाय एवम घोटाले की धनराशि वाह्यय सेवा प्रदाता से वसूल किया जाय। वही सभी श्रेणी के बिजली कर्मचारियों,अवर अभियंताओ एवम अभियंताओं की वेतन विसंगतिया दूर की जाय।वही पूर्व में अक्टूबर 2020 में विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के पदाधिकारियों एवं विद्युत कर्मियों के विरुद्ध की गई एफआईआर को तत्काल निरस्त कराया जाय। वही जिला संरक्षक शिवदर्षन सिंह ने कहा की उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के चेयरमैन एम देवराज के तानाशाही रवैया से प्रदेश के सभी अधिकारी एवं विद्युत कर्मचारी मानसिक एवम आर्थिक रूप से पीड़ित हैं जो हाल ही में मिर्जापुर के मुख्य अभियंता राजाबाबू कटियार इनके तानाशाही एवम मनमानी दबाव के कारण तनाव में जान दे दिए जिसमे इस चेयरमैन को तत्काल निलंबित किया जाय ताकि हमारे विद्युत कर्मी शुद्ध वातावरण में अपना कार्य संपादित कर सके। सह संयोजक मिथिलेश यादव ने बताया कि शाम 5 बजे ऊर्जा प्रबंधन के खिलाफ मसाल जुलूस भी निकाला गया एवम अगर हमारी सभी मांगे तत्काल पूरी नही हुई तो दिनांक 30,11,2022 से सभी विद्युत कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे एवम हड़ताल के दौरान कोई भी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रशासन द्वारा परेशान किया गया तो तत्काल रूप से सभी विद्युत कर्मी जेल भरो आंदोलन करने को बाध्य होंगे। धरने में मुख्य रूप से समस्त अधिशाषी अभियंता,सहायक अभियंता,अवर अभियंता,विद्युत कर्मचारी सहित मीटर रीडर एवम समस्त संविदा कर्मी मौजूद रहे।

1 view0 comments

Comments


bottom of page