top of page
Search
  • alpayuexpress

नियमित टीकाकरण के साथ ही गर्भवती की नियमित जांच को लेकर हुई बैठक

गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


नियमित टीकाकरण के साथ ही गर्भवती की नियमित जांच को लेकर हुई बैठक


मोहम्मद इसरार पत्रकार (उपसंपादक)


गाजीपुर:- नियमित टीकाकरण जो 0 से 5 साल तक के बच्चे और गर्भवती के साथ ही धात्री को कई रोगों से बचाता है। जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा समय-समय पर टीकाकरण करने वाले स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने का कार्य करती है। इसी को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहम्मदबाद पर शुक्रवार को चिकित्सा अधीक्षक डॉ आशीष राय की अध्यक्षता में प्रशिक्षण देने का कार्य किया गया।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ आशीष राय ने बताया कि नियमित टीकाकरण 0 से 5 साल तक के बच्चों गर्भवती और धात्री को लगाया जाता है। जो उन्हें कई तरह के रोगों से बचाता है। इसी को लेकर शत प्रतिशत गभर्वती एवं बच्चों को समयानुसार वैक्सीनेशन हेतु आशा, आशा संगीनी , एएनएम एवं पर्यवेक्षकों का हेड काउंट सर्वे हेतु प्रशिक्षित किया गया। और आगे भी कई बैच में प्रशिक्षण दिया जायेगा।

हेडकाउंट सर्वे के दौरान क्षेत्रांतर्गत सभी परिवारों का सर्वे किया जायेगा। जिसमें वैक्सीनेशन की जानकारी परिवार से एमसीपी कार्ड के माध्यम से लिया जायेगा। एवं छूटे टीकाकरण की जानकारी दर्ज करते हुऐ कार्ययोजना अनुसार सभी की शतप्रतिशत नियमित टीकाकरण किया जायेगा। विशेष रूप से लेफ्ट आउट एवं ड्रॉप आउट बच्चों की पहचान इस सर्वे के दौरान किया जायेगा।

नियमित टीकाकरण सत्र के सुचारू रुप से संचालित करने हेतु आवश्यक संसाधनों, सामग्री, औषधियों एवं आईईसी प्रयाप्त मात्रा में रहे तथा किसी भी विपरित परिस्थितियों में कैसे हम AEFI को मैनैज करे इस बताते हुए वोपेन वायल पालिसी, डुय लिस्ट, की दी जाने वाली प्रमुख संदेशों के साथ साथ एमसीपी कार्ड (टिकाकरण कार्ड ) के महत्व को बताया गया।

इस दौरान शतप्रतिशत गभर्वती महिलाओं को पूर्ण एएनसी जांच एवं समयानुसार फोलिक एसिड, आयरन फोलिक एसिड एवं कैल्शियम की उपलब्धता के साथ साथ हिमोग्लोबिन जांच, सिफलिश जांच, एचआईवी जांच के साथ साथ युरिन एल्बुमिन एवं प्रोटीन की जांच शतप्रतिशत करते हुऐ प्रत्येक गभर्वती महिलाओं की कम से कम एक एएनसी जांच महिला चिकित्साधिकारी द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाकर अवश्य कराएं। हाई रिस्क प्रेगनेंट महिलो का प्रसव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर ही महिला चिकित्साधिकारी की निगरानी में कराया जाय। जिससे किसी भी विषम परिस्थितियों को मैनेज किया जा सके।

नियमित टीकाकरण के साथ साथ परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थाई विषयो पर विस्तार पूर्वक चर्चा करते हुऐ लक्षित समुह को आवश्यकता अनुसार साधनों को अपनाने हेतु प्रोत्साहित करते हुऐ उनकी स्वीकार्यता को बढ़ाने का निर्देश दिया। बैठक में ब्लॉक कार्यक्रम प्रबंधक संजीव कुमार, बीसीपीएम मनीष कुमार, डब्ल्यूएचओ मानीटर अनिल श्रीवास्तव के साथ अन्य लोग मौजूद रहे।

1 view0 comments

Comentários


bottom of page