top of page
Search
  • alpayuexpress

धूमधाम से मनाई गई पूर्व प्रधानमंत्री व महामना की जयंती, राज्यमंत्री ने दोनों विभूतियों का किया बखान

सैदपुर/गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


धूमधाम से मनाई गई पूर्व प्रधानमंत्री व महामना की जयंती, राज्यमंत्री ने दोनों विभूतियों का किया बखान


मोहम्मद इसरार पत्रकार (उपसंपादक)


सैदपुर। भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और भारत रत्न महामना पंडित मदन मोहन मालवीय की जयंती नगर स्थित सुभाष पासी कार्यालय के सामने सुशासन दिवस में रूप में मनाई गई। इस दौरान बतौर मुख्य अतिथि प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री दयाशंकर मिश्र दयालु पहुंचे और भारत रत्न द्वय के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किया। राज्यमंत्री ने कहा कि दोनों महान विभूतियों का जीवन समाज के लिए प्रेरणाश्रोत है। उनके उत्तम चरित्र व विचार के चलते वे कभी मर नहीं सकते हैं, वे हमेशा हमारे विचारों में जीवित रहेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी वाजपेयी के अल्प समय के भाषण को सुनकर ही पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने कह दिया था कि एक दिन यह लड़का देश का प्रतिनिधित्व करेगा। अटल जी तीन बार देश के प्रधानमंत्री बने। एक बार एक वोट से सरकार गिर गई तो उन्होंने किसी को खरीदने का काम नहीं किया, बल्कि पुनः चुनाव के लिए तैयार हो गए। आरएसएस से जुड़कर प्रधानमंत्री तक का सफर तय करने वाले वाजपेयी ने अपना पूरा जीवन देश के लिए समर्पित कर दिया। पहली बार चुनाव हारने के बाद वो बलिरामपुर से चुनाव जीते और संसद में कदम रखा। इसके बाद पूर्व प्रधानमंत्री ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उनके उच्च विचार व स्वच्छ राजनीति की ही देन थी कि विपक्षी दलों का प्यार भी उन्हें सदा मिलता रहा। राज्यमंत्री ने पंडित मदन मोहन मालवीय के बारे में भी विस्तृत प्रकाश डाला। कहा कि जब कांग्रेस गंगा नदी पर बांध बना रही थी तो महामना ने गंगा महासंघ बनाकर विरोध किया। केंद्रीय ब्राह्मण महासभा, हिंदू महासभा समेत तमाम संस्थाओं का गठन किया। उनके द्वारा बनाए गए काशी हिंदू विश्वविद्यालय की पहचान आज भी एक अच्छे विश्वविद्यालय के रूप में पूरे विश्व में है। उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का भी उदाहरण दिया। कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमाएं आज भी लगाई जा रही हैं। उनके विचार आज भी प्रासंगिक हैं। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह, जिला प्रभारी अशोक मिश्रा, कृष्णबिहारी राय, रामतेज पांडेय, अखिलेश सिंह, ओमप्रकाश राय, बृजनंदन सिंह, नवीन अग्रवाल, लवकुश वर्मा, डॉ पीएन सिंह आदि रहे। अध्यक्षता जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह व संचालन प्रवीण सिंह ने किया।


2 views0 comments

Comments


bottom of page