Search
  • alpayuexpress

दीपक सुहानी गैंग मेंबर आरती आर्या ने की आत्महत्या




( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस-Alpayu Express)

मई शुक्रवार 22-5-2020


दीपक सुहानी गैंग मेंबर आरती आर्या ने की आत्महत्या


कुछ दिन पहले सुहानी ने करवाया था आरती का नार्को टेस्ट


कल्याण और उल्हासनगर में रहकर विदेशों से सोने की तस्करी करनेवाले दीपक सुहानी गैंग की एक महिला सदस्य आरती आर्या ने आत्महत्या कर ली है। दो किलो सोने के एक घपले के मामले में दीपक सुहानी ने आरती आर्या और गैंग के कुछ और सदस्यों का नार्को टेस्ट करवाया था।


आरती आर्या ने चार दिन पहले अम्बरनाथ के अपने मोहन सर्बिया घर पर अलसुबह आत्महत्या कर ली। आत्महत्या से पूर्व आरती ने अपनी एक महिला मित्र को फोन कर बताया था क़ी वह आत्महत्या करने जा रही है। उसने वीडियो और वॉइस रिकार्डिंग भी की थी। आत्महत्या के लिए आरती ने एक व्यक्ति करण वरलियानी को जिम्मेदार ठहराया था। करण भी सुहानी गैंग का मेंबर है। अम्बरनाथ पुलिस मामले की जांच कर रही है। करण फरार है।


एबीआई और जन स्वाभिमान ने कई दफा खबर प्रकाशित की है कि आरती आर्या दीपक सुहानी के लिए सोने की तस्करी का काम करती है। पब्लिक डोमेन (गूगल) में आरती आर्या के बारे में जानकारी उपलब्ध है।


दो माह पहले इस संवाददाता को जानकारी मिली थी कि आरती आर्या कार में पुणे से दो किलो सोने की डिलीवरी लेकर आ रही थी। उसके साथ एक और महिला थी। आरती आर्या की नीयत खराब हो गयी। उसने कहानी बनाई कि पुलिस ने उसे पकड़ लिया था और सोना ले लिया था। सुहानी को ये बात हजम नहीं हुई। ठाणे क्राइम ब्रांच के एक पुलिस अधिकारी के जरिये सुहानी ने तब आरती आर्या और गैंग के कुछ मेंबर्स को धमकी दिलवायी थी। बताते हैं कि इसी अधिकारी के जरिये सुहानी ने आरती आर्या और अन्य लोगों का नार्को टेस्ट करवाया था। तब से आरती आर्या बहुत तनाव में थी।


मुम्बइया फिल्मों में जैसा दिखाते हैं कि गैंग से गद्दारी करने पर डॉन उसको बख्शता नहीं है। उसी तर्ज पर दीपक सुहानी भी किसी को माफ़ नहीं करता। इसके पहले भी उसने कई सदस्यों को झूठे केस में फंसा कर बदला लिया है। उल्हासनगर, कल्याण और मुम्बई के कई पुलिस अधिकारी उसके पे रोल पर हैं। वे बेगुनाहों को झूठे केस में फंसाने के लिए तैयार बैठे रहते हैं।

1 view0 comments