top of page
Search
  • alpayuexpress

दो लुटेरे पुलिस मुठभेड़ में हुवे ढेर!....दरोगा पर कातिलाना हमला कर पिस्टल लूटने के मामले में थे वांछ

वाराणसी/उत्तर प्रदेश


दो लुटेरे पुलिस मुठभेड़ में हुवे ढेर!....दरोगा पर कातिलाना हमला कर पिस्टल लूटने के मामले में थे वांछित


अंकुर मिश्रा पत्रकार


वाराणसी। उत्तर प्रदेश पुलिस अब मुठभेड़ में घुटने के नीचे नहीं घुटने के ऊपर मारेगी अपराधियों को गोली इसी क्रम में सोमवार को पुलिसिया इकबाल को चुनौती देने वाले दो बदमाशों को क्राइम ब्रांच ने मुठभेड़ में मार गिराया। हालांकि उनका तीसरा साथी भागने में कामयाब रहा। मुठभेड़ में क्राइम ब्रांच का एक सिपाही भी घायल हुआ। बड़ागांव थाना क्षेत्र के भेलखा गांव में रिंग रोड के समीप मुठभेड़ हुई। इस दौरान आमने-सामने की कई राउंड फायरिंग हुई। गोलियों की तडतड़ाहट से पूरा इलाका थर्रा उठा। पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि गोली लगने से घायल बदमाशों को अस्पताल में मृत घोषित किया गया। उनकी शिनाख्त रजनीश उर्फ बऊआ सिंह निवासी गोलवा जिला समस्तीपुर बिहार और उसके सगे भाई मनीष के तौर पर हुई है। तीसरा फरार आरोपी इनका भाई लल्लन है। यह तीनों अत्यंत शातिर हत्यारे एवं लुटेरे हैं। वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस ने मारे गए बदमाशों की डिटेल्ड क्रिमिनल हिस्ट्री बिहार पुलिस से मांगी है। जानकारी के अनुसार तीनों हाल ही में पटना जेल से भागे थे और बिहार पुलिस को इनकी सरगर्मी से तलाश थी। पुलिस ने बदमाशों के पास से एक 9 एमएम पिस्टल और एक 32 बोर का पिस्टल बाइक मोबाइल फोन और जरूरी कागजात बरामद किए हैं। यह पिस्टल वही है जिसे लक्सा थाने में तैनात दरोगा अजय कुमार पर कुछ दिन पहले ही जानलेवा हमला कर लूटा था। इसके बाद से ही पुलिस को बदमाशों की तलाश थी। दरेखू में 9 नवंबर की शाम लक्सा थाने में तैनात दरोगा अजय यादव पर तीन बदमाशों ने हमला बोला था। गोली मारकर सरकारी पिस्टल लूट ली थी। कमिश्नरेट विस्तार के बाद इस घटना ने महकमे को हिलाकर रख दिया था। बदमाशों की गिरफ्तारी और सरकारी पिस्टल की बरामदगी करना भी पुलिस के लिए चुनौती बन गई थी। पुलिस आयुक्त ने बताया कि दरोगा अजय यादव को गोली मार कर पिस्टल लूटने की घटना को अंजाम देने वाले बदमाशों की तलाश में पुलिस टीमें लगातार लगी हुई थीं। सोमवार तड़के सर्विलांस की मदद से पता लगा कि घटना में वांछित तीन बदमाश भेलखा गांव के पास रिंग रोड से गुजरने वाले हैं। इस पर कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच और बड़ागांव थाने की पुलिस टीम ने घेराबंदी कर तीनों बदमाशों को रोकने का प्रयास किया। पुलिस को देखते ही बाइक सवार बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में दो बदमाशों को गोली लगी। बदमाशों की गोली से क्राइम ब्रांच के सिपाही शिव बाबू भी घायल हुए। एक बदमाश भाग निकला। पुलिस सभी घायलों को जिला अस्पताल लेकर गई। अस्पताल में दोनों बदमाशों को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सिपाही को भर्ती किया गया। घटनास्थल से भाग निकले एक बदमाश की तलाश के लिए पुलिस की तीन टीमें लगाई गई हैं। मुठभेड़ की जानकारी के बाद फील्ड यूनिट सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पहुंचे। बदमाशों के पास से बरामद हुई 9 एमम पिस्टल के मिलान की कार्रवाई के लिए उसे मुख्य आरमोरर के पास भेजा गया। यह वही पिस्टल है जो दरोगा से लूटी गई थी। मुठभेड़ की जानकारी के बाद फील्ड यूनिट सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पहुंचे। बदमाशों के पास से बरामद हुई 9 एमम पिस्टल के मिलान की कार्रवाई के लिए उसे मुख्य आरमोरर के पास भेजा गया है।

19 views0 comments

Comentários


bottom of page