Search
  • alpayuexpress

डीएम के प्रयास से शुरू हुई शानदार पहल, नौनिहालों को खेल-खेल में शिक्षा देने के लिए शुरू किया गया खिल







गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


डीएम के प्रयास से शुरू हुई शानदार पहल, नौनिहालों को खेल-खेल में शिक्षा देने के लिए शुरू किया गया खिलौन बैंक


फ़रवरी शनिवार 22-2-2020


ग़ाज़ीपुर। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर नौनिहालों को ज्ञानपरक खिलौने देने के लिए जिलाधिकारी के प्रयासों के बाद डीपीओ ने एक अनूठी पहल की शुरूआत की है। जिसमें कोई भी व्यक्ति अपने बच्चों के पुराने खिलौने दान कर सकता है। दान किये गये खिलौने आंगनबाड़ी केन्द्रों पर भेजे जायेंगे। जिससे इन खिलौनों से वहां के बच्चे खेल-खेल में पढ़ाई के गुर सीखेंगे। जिला कार्यक्रम अधिकारी दिलीप कुमार पांडेय ने बताया कि जनपद के 17 ब्लॉकों में चलने वाले 85 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल आंगनबाडी केंद्र बनाया गया है। जहां पर बच्चों को प्री स्कूल की शिक्षा दिए जाने की कवायद शुरू कर दी गई है। इसी के क्रम में खिलौना बैंक के लिए प्रपोजल जिला अधिकारी के पास भेजा गया था। जिलाधिकारी ने इस पहल को हरी झंडी दे दी है। जिसके बाद प्रथम चरण में विभाग के सीडीपीओ और मुख्य सेविकाओं के द्वारा खिलौना बैंक के लिए खिलौना दान लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जिला स्वस्थ भारत प्रेरक जितेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि खिलौना बैंक में कोई भी नागरिक बच्चों के लिए ज्ञान परक खिलौने दान कर सकता है। दान किये गये खिलौने जमा होने के बाद जहां पर इनकी आवश्यकता होगी वहां भेजे जायेंगे। उन्होंने लोगों से अपील किया कि खिलौना बैंक में दान देकर गरीब बच्चों का उत्साह बढ़ाएं। डीपीओ ने कहा कि मेरा प्रयास है कि आंगनबाड़ी केन्द्रों के नन्हें मुन्ने नौनिहालों को खेल-खेल में रुचि पूर्ण शिक्षा दी जाय। ताकि बच्चे शुरूआती दौर में ही शिक्षा के प्रति सजग व तैयार हो सके। बताया कि खिलौना बैंक की स्थापना का उद्देश्य आंगनबाड़ी केन्द्रों पर खिलौना की पर्याप्त उपलब्धता करते हुए आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों की संख्या में वृद्धि करने के साथ-साथ शारीरिक एवं मानसिक विकास करना है। उन्होंने अपील कर कहा कि इस बैंक की स्थापना सतत प्रक्रिया के तहत होगी जिसमें खिलौना दानकर्ता का नाम तथा पता भी अंकित किया जायेगा।

0 views0 comments