Search
  • alpayuexpress

टीबी मरीजों को गोद लेने का सिलसिला शुरू!....जिपं अध्यक्ष और उनके प्रतिनिधि ने टीबी मरीजों को लिया गो

गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


टीबी मरीजों को गोद लेने का सिलसिला शुरू!....जिपं अध्यक्ष और उनके प्रतिनिधि ने टीबी मरीजों को लिया गोद


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर टीबी मुक्त भारत का सपना प्रधानमंत्री ने 2025 तक देखा है। उसी सपने को अमली रूप में लाने के लिए एक तरफ जहां क्षय रोग विभाग लगा हुआ है, वहीं अब प्रधानमंत्री के सपने को पूरा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने भी पूरी तरह से कमर कस लिया है। चल रहे सेवा पखवाड़ा के तहत टीबी मरीजों को गोद लेने का सिलसिला शुरू कर दिया है। जिसके क्रम में शुक्रवार को जहां भाजपा कार्यकर्ताओं ने 1010 टीबी मरीजों को गोद लेने की स्वीकृति दिया है। वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह ने 21 और उनके प्रतिनिधि पंकज सिंह चंचल ने भी 11 टीबी मरीजों को गोद लिया, जिसको आज उनके द्वारा न्यूट्रिशन का वितरण जिला अस्पताल स्थित क्षय रोग केंद्र पर किया गया।

इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह ने कहा कि टीबी मरीज़ हमारे ही समाज के है और हमारे आसपास के रहने वाले लोग हैं। जिनसे दूरी बनाने की बजाय इन्हें प्यार देने की जरूरत है। यदि हम ऐसा करते हैं तो वह दिन दूर नहीं कि प्रधानमंत्री ने 2025 तक टीबी मुक्त भारत का जो सपना देखा हैं, 2023 या 2024 तक पूरा कर सकते है, बस जरूरत है इसके लिए आगे आकर पहल करने की। जिला कार्यक्रम समन्वयक डा. मिथिलेश सिंह ने बताया कि 18 सितंबर को मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में आयुष्मान भारत का स्थापना दिवस मनाया गया था, जिसके मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह रही। उसी कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष को टीबी मरीजों को गोद लिए जाने के संबंध में जानकारी दी गई थी और उन्होंने तत्काल 21 टीबी मरीजों को गोद लेने की घोषणा भी किया था। उसी घोषणा के क्रम में शुक्रवार को जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह द्वारा सभी गोद लिए हुए मरीजों को न्यूट्रिशन वितरण करने का काम किया गया।

उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत के स्थापना दिवस के अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह भी मौजूद रहे। उन्होंने भी सेवा पखवाड़ा के तहत टीबी मरीजों के गोद लिए जाने के संबंध में क्षय रोग विभाग से लिस्ट की मांग किया था। उन्हें विभाग द्वारा लिस्ट उपलब्ध कराई गई, जिसके बाद कुल 1010 मरीजों को विभिन्न कार्यकर्ताओं के द्वारा गोद लिए जाने का सहमति पत्र विभाग को प्राप्त हुआ है। उन्होंने बताया कि जनवरी 2022 से अब तक कुल 2137 क्षय रोग के मरीज हैं। जिनमें कुल अब तक गोद लिए गए मरीजों की संख्या 1108 है। गोद लेने वालों में जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह, पूर्व जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी,जिला क्षय रोग अधिकारी, पीजी कॉलेज के प्रबंधक, राजकीय महिला महाविद्यालय के प्राचार्य के साथ अन्य कई संभ्रांत लोग शामिल है। इस अवसर पर प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. जे एन सिंह, डा. सुजीत कुमार मिश्रा, प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक जिला अस्पताल डा. मृत्युंजय दुबे, अनुराग कुमार पांडेय, सुनील कुमार वर्मा, वेंकटेश प्रसाद शर्मा, संजय सिंह यादव, महेश, गरीब, इंद्रेश, नीतू, अंजू सिंह, स्वेता सिंह, संगीत सिंह, सलमान, सर्वेश तथा अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

1 view0 comments