Search
  • alpayuexpress

झोलाछाप हॉस्पिटल का खेल!...मनिहारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बना दलालों का अड्डा,कमीशन के चक्कर में

मनिहारी/गाज़ीपुर/उत्तर प्रदेश


झोलाछाप हॉस्पिटल का खेल!...मनिहारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बना दलालों का अड्डा,कमीशन के चक्कर में बाहर की दवा लिखते है सहयोगी डॉक्टर


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर झोलाछाप डॉक्टर और प्राइवेट झोलाछाप अस्पतालों पर प्रशासन कार्रवाई करने में लाचार दिख रही है वही झोलाछाप डॉक्टर और प्राइवेट झोलाछाप अस्पताल लोगों के जीवन से खिलवाड़ कर रहा है आइए अब बताते हैं आपको मनिहारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी निरीक्षक धर्मेंद्र के यहां सुबह ही लग जाता है झोलाछाप हॉस्पिटल के दलालों की भीड़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में हर व्यवस्था होने के बावजूद मरीजों के साथ किया जाता खिलवाड़ शासन द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य मनिहारी में हर एक रोग की दवा मौजूद होने के बावजूद भी कमीशन के चक्कर में इनके सहयोगी डॉक्टर बाहर की दवा लिखते हैं और प्रभारी धर्मेंद्र की सह से आशा गर्भवती महिलाओं का प्रस्तुति हॉस्पिटल में न करा के प्राइवेट झोलाछाप हास्पिटल में कमीशन के चक्कर में भेज देती हैं और उस कमीशन में सहभागी भी होते हैं प्रभारी निरीक्षक धर्मेंद्र और जो उनके प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में महिलाओं की डिलीवरी होती है उनसे डिलीवरी के बाद उनसे ₹2000 वसूला जाता है और यह भी कहा जाता है कि हमें ₹2000 देने में दिक्कत हो रही और झोलाछाप डॉक्टरों को आप लोग भी 20 हजार दे देंगे कोई दिक्कत नहीं है सरकार द्वारा मुहिम चलाया जा रहा है की हर परिवार को स्वास्थ संबंधित बेहतर मील वहीं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मनिहारी सारे आदेशों को पैरों तले रावते दिखाई दे रहा है आपको बता दें कि प्रभारी निरीक्षक काफी आरोपों से घिरे हुए हैं जैसे दारू के नशे में धुत होकर बवाल करना 10 वर्षों से वही नियुक्ति है क्यों नहीं हुआ अब तक उनका स्थानांतरण क्या विभाग पर दबाव रहा।

12 views0 comments