top of page
Search
  • alpayuexpress

जिलाधिकारी ने राजकीय महिला डिग्री कालेज में!...200 बेडेड महिला छात्रावास एवं मल्टीपरपज कान्फ्रेन्स ह

जिलाधिकारी ने राजकीय महिला डिग्री कालेज में!...200 बेडेड महिला छात्रावास एवं मल्टीपरपज कान्फ्रेन्स हाल के निर्माण कार्य का किया निरीक्षण


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने मंगलवार को राजकीय महिला डिग्री कालेज में 200 बेडेड महिला छात्रावास एवं मल्टीपरपज कान्फ्रेन्स हाल के निर्माण एवं आदर्श गॉव रघुनाथपुर में बन रहे सॉलीड वेस्ट कचरा प्रबन्धन का स्थलीय निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने राजकीय महिला डिग्री कालेज गाजीपुर में 200 बेडेड महिला छात्रावास एवं मल्टीपरपज कान्फ्रेन्स हाल के निर्माण कार्य का निरीक्षण के दौरान सहायक अभियंता द्वारा अवगत कराया गया कि परियोजना की स्वीकृत लागत 16.24 करोड़ है, जिसके सापेक्ष 5.68 करोड़ रूपये की धनराशि अवमुक्त की गयी है। अवमुक्त धनराशि के सापेक्ष 4.85 करोड़ रूपये व्यय कर कार्य कराया जा रहा है। परियोजना को पूर्ण करने की तिथि 31 अगस्त 2024 है। परियोजना स्थल पर 20 श्रमिकों को कार्य करना बताया गया जिस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि श्रमिकों की संख्या को बढ़ाकर निर्धारित समयावधि में परियोजना को पूर्ण करना सुनिश्चित करें। कार्य स्थल पर उपस्थित अधिशासी अभियंता, लोक निर्माण विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि सहायक अभियंता एवं अवर अभियंता के परिनिरीक्षणीय शिथिलता के कारण कालम की ढलाई के समय शरिंग के फैल जाने के कारण कालम की फिनिशिंग प्रभावित हुई है।

जिस पर कार्यदायी संस्था के सहायक अभियंता को निर्देश दिया गया कि डी.पी.आर. में वर्णित व्यवस्था के अनुसार ठेकेदार मेसर्स पहलवान कान्स्ट्रक्शन, लखनऊ के विरूद्ध अर्थ दण्ड लगाते हुए वसूली करना सुनिश्चित करें। अधिशासी अभियंता, लोक निर्माण विभाग, गाजीपुर को निर्देशित किया गया कि कार्य स्थल पर प्रयुक्त हो रही सामग्री तथा-ईंट, सीमेन्ट, बालू का नमूना एकत्र कर अपनी प्रयोगशाला में जॉच कराकर अवगत करायें। प्रेक्षा करने पर अवर अभियंता द्वारा अवगत कराया गया कि सामाग्री के थर्ड पार्टी वैल्यूएशन हेतु नमूना काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी को भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट 15 दिनों में प्राप्त होगी। परियोजना प्रारम्भ करने की तिथि 1 मार्च 2023 है और कार्य स्थल पर लगभग 27 प्रतिशत कार्य हो जाने के बाद भी सामाग्री की थर्ड पार्टी वैल्यूएशन हेतु नमूना इतना विलम्ब से भेजा जाना कार्यदायी संस्था के गुणवत्तापूर्ण कार्य कराने के प्रति उदासीनता का परिचायक है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सहायक अभियंता एवं अवर अभियंता प्रतिदिन कार्य स्थल पर उपस्थित रहते हुए अपनी तकनीकि देख-रेख में डी पी आर में वर्णित व्यवस्था अनुसार गुणवत्तापूर्ण कार्य कराना सुनिश्चित करेगे। निरीक्षण के समय जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, अधिशासी अभियंता, निर्माण खण्ड-3, लोक निर्माण विभाग, कार्यदायी संस्था यू.पी. सिडको, गाजीपुर के सहायक अभियंता, पी.पी. बन्दा एवं अवर अभियंता और रोहित मौर्य उपस्थित थे।

7 views0 comments

Comments


bottom of page