top of page
Search
  • alpayuexpress

जनपद सोनभद्र में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की वकीलों ने मांग की।

जनपद सोनभद्र में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की वकीलों ने मांग की।


आकाश मौर्या ब्यूरो चीफ


सोनभद्र:- बृहस्पतिवार कोभारतीय विधिक सहायता एसोसिएशन की एक बैठक अधिवक्ता भवन, तहसील परिसर, राबर्टसगंज में दिन के 11:00 बजे विमल प्रसाद सिंह एड महामंत्री डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन सोनभद्र की अध्यक्षता एवं संरक्षक कवि इंद्रजीत तिवारी निर्भीक के संचालन में संपन्न हुई। बैठक में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग की गई तथा उस पर विस्तृत विचार-विमर्श किया गया। राष्ट्रीय संयोजक एड पवन कुमार सिंह ने कहा कि जनसंख्या की लगातार वृद्धि ने आज विकास के लक्ष्यों को बेअसर कर दिया है। आज विश्व की बढ़ती हुई आबादी की मांग की पूर्ति के लिए जिस तरह प्रकृति के नियमों को दरकिनार कर तीव्र गति के औद्योगिकरण, शहरीकरण व मशीनीकरण के माध्यम से प्राकृतिक संसाधनों का अन्धाधुन्ध दोहन हो रहा है, उसी का परिणाम है कि हमारी सारी नदियां सूखती जा रही हैं। समुद्र प्रदूषित हो रहा है। जल, जंगल और जमीन घटते जा रहे हैं। विश्व की 16.87 प्रतिशत जनसंख्या भारतीय भू-भाग पर निवास करती है। जनसंख्या का यह प्रतिशत लगातार बढ़ रहा है परन्तु दूसरी ओर भूमि का भाग स्थिर है।प्रति व्यक्ति भूमि की उपलब्धता घट रही है। जनसंख्या वृद्धि के कारण ग्रामीण जीवन के जीविकोपार्जन के मूलभूत संसाधन घटते चले जा रहे हैं। यही स्थिति जल, ऊर्जा तथा अन्य खनिज संसाधनों की है। इसलिए केंद्र सरकार से मांग है कि जनसंख्या नियंत्रण कानून इसी सत्र में लाया जाए। राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप जायसवाल ने कहा कि इन सब प्रयासों के बावजूद भी जनसंख्या की प्राकृतिक वृद्धि दर अपेक्षा से अधिक ही रही। भविष्य में भारत में जनसंख्या वृद्धि की दर यही रहती है तो वह दिन दूर नहीं जब आम आदमी के जीवनयापन के लिए न्यूनतम साधन उपलब्ध कराना भी कठिन हो जाएगा। जीवन निर्वाह के सभी मूलभूत प्राकृतिक संसाधन और घट जाएंगे।इस अवसर मनीष रंजन एड,ईश्वर जायसवाल एड, मनोज जायसवाल एड, संजीव कुमार उर्फ़ काकू सिंह, अशोक कुमार कनौजिया एड, नवीन कुमार पांडेय एड, वीरेंद्र कुमार सिंह एड, संतोष चतुर्वेदी, सत्यम शुक्ला एड, राजेश यादव एड फूल सिंह एडवोकेट पवन कुमार द्विवेदी एड विकास त्रिपाठी राजकुमार सिंह एडवोकेट आदि लोग उपस्थित थे

7 views0 comments
bottom of page