Search
  • alpayuexpress

छात्र परिचय कार्यक्रम का आयोजन!...सेवारत व्यक्ति भी कर सकता है इग्नू से अध्ययन:-डॉ० उपेन्द्र नाथ त्र

गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


छात्र परिचय कार्यक्रम का आयोजन!...सेवारत व्यक्ति भी कर सकता है इग्नू से अध्ययन:-डॉ० उपेन्द्र नाथ त्रिपाठी


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के पी जी कॉलेज अध्ययन केंद्र पर वर्तमान सत्र के लिए छात्र परिचय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में क्षेत्रीय निदेशक मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे।क्षेत्रीय निदेशक ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का औपचारिक रूप से उद्घाटन किया। इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित छात्र परिचय कार्यक्रम के बारे में मुख्य अतिथि एवं क्षेत्रीय निदेशक डॉ० उपेंद्र नाथ त्रिपाठी ने बताया कि जब भी कोई छात्र रेगुलर स्टडी प्रोग्राम से डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम में एडमिशन लेता है। तो उसको बहुत सी नई जानकारियों की आवश्यकता होती है। इग्नू में एडमिशन लेने के बाद उन्हें डिस्टेंस लर्निंग से जुड़े असाइनमेंट स्टडी मैटरियल आदि के बारे में विस्तार से बताया जाता है ।ऐसा करने से उन्हें पारंपरिक अध्ययन शैली से अलग दूरस्थ शिक्षा के बारे में बताकर उन्हें पाठ्यक्रम के अनुरूप मानसिक रूप से तैयार करने की कोशिश की जाती है। डॉक्टर त्रिपाठी ने आगे बताया कि सोशल मीडिया के बेहतर इस्तेमाल से इग्नू जैसी संस्थाएं छात्रों से और कारगर ढंग से संवाद स्थापित करने में कामयाब हुई है। डिस्टेंस लर्निंग के छात्र दूरदराज बैठे हैं सोशल मीडिया पर इग्नू के हैंडल्स के जरिए अपने दूरस्थ शिक्षा को और सहज और बेहतर बना सकते हैं। डा त्रिपाठी ने यह भी कहा कि इग्नू अब कुछ नए प्रयोग पर विशेष बल दे रही है। पीजी कॉलेज जैसे इंफ्रास्ट्रक्चर में समृद्ध संस्थाओं में ऑफलाइन क्लास भी इग्नू की ओर चलाए जाएंगे। जिससे छात्र और शिक्षक के बीच का संवाद और सहज और प्रभावशाली हो सके। पी जी कालेज के प्राचार्य प्रोफेसर (डॉ०) राघवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि इग्नू के पाठ्यक्रम वैश्विक स्तर के है। इनको पढ़ने के बाद छात्र पूरी तरीके से विषय की गहन जानकारी रख सकते हैं। इग्नू में पाठ्यक्रमों की संख्या बहुत ज्यादा है। इसमें कई पाठ्यक्रम तो सीधे तौर पर कई तरह के रोजगार के लिए युवाओं को तैयार करते हैं। इग्नू की क्लास हाइब्रिड मोड में चलती है। इग्नू में सेवारत व्यक्ति भी आगे की अपनी पढ़ाई जारी रख सकता है। इस अवसर पर डॉ० संजय कुमार डिप्टी डायरेक्टर इग्नू वाराणसी ने छात्रों के समक्ष डिस्टेंस लर्निंग की महत्ता पर प्रकाश डाला। उन्होंने इस बात पर विशेष बल दिया कि कोरोना कॉल में इग्नू जैसी संस्थाओं से डिस्टेंस लर्निंग बेहतर समझ पैदा करने में मददगार साबित हो सकती है। पी जी कॉलेज, गाजीपुर के कोऑर्डिनेटर डॉ० डी० के० सिंह ने विषय स्थापना करते हुए दूरस्थ शिक्षा शिक्षा पर प्रकाश डाला।उन्होंने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम एवं एडमिशन की प्रक्रिया पर सभागार में मौजूद छात्रों को विस्तार से बताया। कार्यक्रम का संचालन पी जी कॉलेज इग्नू के सह समन्वयक डॉक्टर पीयूष कांत सिंह ने किया।इस मौके पर प्रोफे० (डॉ०) एस०डी

1 view0 comments