top of page
Search
  • alpayuexpress

गोपीनाथ पीजी कालेज में!...."इंडिया स्पेस प्रोग्राम: नाऊ योर स्पेस" नामक प्रोग्राम का बीएससी की छात्र

गोपीनाथ पीजी कालेज में!...."इंडिया स्पेस प्रोग्राम: नाऊ योर स्पेस" नामक प्रोग्राम का बीएससी की छात्राओं द्वारा किया गया आयोजन


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाज़ीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर चन्द्रयान-3 की सफलता पर गोपीनाथ पीजी कालेज में आज "इंडिया स्पेस प्रोग्राम: नाऊ योर स्पेस" नामक प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिसमें बीएससी के छात्र-छात्राओं ने विभिन्न प्रकार के माडल बना कर उसके विभिन्न पहलुओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में चंद्रयान-3 की यात्रा पर एक लघु फिल्म दिखाई गई। फोटो फ्रेम के रूप में छात्रों द्वारा रचनात्मक अभिव्यक्तियां मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि को प्रस्तुत की गईं और चंद्रयान-3 पर छात्रों द्वारा कविता पाठ किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कालेज प्राचार्या डॉ सुधा त्रिपाठी ने चंद्रयान-3 की सफलता को 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण उपलब्धियों में से एक बताया, जिसने देश के बच्चों को सबसे अधिक प्रेरित किया है। उन्होंने कहा कि चंद्रयान-3 ने छात्रों में आत्मविश्वास जगाया है और उन्हें प्रौद्योगिकी को समझने के लिए प्रेरित किया है, जिससे उनमें वैज्ञानिक चेतना विकसित करने में मदद मिलेगी। उन्होंने छात्रों को प्रेरित करने और उन्हें आत्मविश्वास से लैस करने के लिए इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजन के लिए विज्ञान संकाय के शिक्षकों को भी धन्यवाद दिया साथ ही छात्रों के लिए विज्ञान को मनोरंजक बनाने का भी आग्रह किया। विज्ञान संकाय के प्राध्यापक अंकित राय ने कार्यक्रम का उद्देश्य बताते हुए कहा कि इसका मुख्य उद्देश्य छात्रों के बीच अंतरिक्ष कार्यक्रमों के प्रति रुचि उत्पन्न करना तथा इसरो द्वारा चलाए जा रहे अंतरिक्ष कार्यक्रमों को जानना और स्पेस तकनीक के क्षेत्र रोजगार के क्या अवसर हो सकते है उसपे चर्चा करना है। इस अवसर पर मॉडल , स्पीच , स्लाइड और वीडियो के द्वारा छात्रों द्वारा अपनी बहुत ही खूबसूरत प्रस्तुति दी गई। इस अवसर पर प्रमुख रूप से डाॅ चन्द्रमणि पांडेय, डॉ अंजना तिवारी, डॉ गिरीश चंद, अंकित राय, सौरभ वर्मा, सनूबर परवीन, रवि शर्मा, चन्द्रकेश दूबे, रणजीत यादव, अंकित यादव, मो ज़ाहिद, विकास श्रीवास्तव, सईदुज्जफर, प्रतिमा पांडेय आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन बीएससी की छात्राओं द्वारा किया गया।

2 views0 comments

Comments


bottom of page