top of page
Search
  • alpayuexpress

गाजीपुर जिले की कानून व्यवस्था बिगड़ी!...पीड़ित को नहीं मिल रहा न्याय,मुकदमा दर्ज करवाने के लिए पीड़ित दर-दर भटकने को मजबूर।

गाजीपुर जिले की कानून व्यवस्था बिगड़ी!...पीड़ित को नहीं मिल रहा न्याय,मुकदमा दर्ज करवाने के लिए पीड़ि तदर-दर भटकने को मजबूर।


 रजत श्रीवास्तव मंडल ब्यूरो चीफ


गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर गाज़ीपुर पुलिस की कानून व्यवस्था इस हद तक बिगड़ चुकी है की पीड़ित के प्रार्थना पत्र देने के बाद भी थाना प्रभारी द्वारा मामले को गंभीरता से ना लेते हुए मुकदमा भी दर्ज नहीं किया जा रहा है एक तरफ गाज़ीपुर एसपी तमाम बयान देते नजर आ रहे हैं वहीं दूसरी ओर फरियादियों को थाने से मायूस होकर लौटना पड़ रहा है

आईए जानते हैं क्या है पूरा मामला:- आपको बताते चले की मोहम्मदाबाद निवासी मौजा चकशाह उर्फ मलिकपुर, परगना मोहम्दाबाद , जिला - गाजीपुर का मूल निवासी है। लल्लू गुप्ता , पुत्र - राजपति गुप्ता की पैतृक जमीन को लेकर भाइयों से विवाद चलता चला आ रहा है। लल्लू तीन भाई। बड़े भाई कल्लू , व सबसे छोटे भाई मल्लू है। मां बाप के मरने के बाद कल्लू ने अपने हिस्से की जमीन को बेच चुका था। लेकिन राजस्व कर्मियों की गलती से राजस्व अभिलेख में कल्लू का नाम दर्ज रह गया। इसी गलती का फायदा उठाकर कल्लू ने पुनः दिनांक 13 मार्च 2023 को 0. 0056 हेक्टेयर का विक्रय पत्र राजकेर सिंह व वीरेंद्र कुशवाहा, पुत्र रामसूरत कुशवाहा को लल्लू के मकान व दुकान की चौहद्दी देकर विक्रय कर दिया। जो शरीहन अवैधानिक था। जब इसकी जानकारी लल्लू को हुई तो उसने विक्रय पत्र को निरस्त करने हेतु सिविल जज सीनियर डिवीजन के यहां एक प्रार्थना पत्र दाखिल किया। जो अभी विचाराधीन है। लल्लू द्वारा नामांतरण के विरुद्ध तहसीलदार के  यहां आपत्ति दाखिल किया गया जिसको तहसीलदार महोदय ने 5/10/2023 को आदेश से निरस्त भी कर दिया गया। रामकेर व वीरेंद्र कुशवाहा पुत्रगण स्वर्गीय राम सूरत सिंह कुशवाह,  निवासी ग्राम दाउदपुर, परगना, मोहम्मदाबाद द्वारा वैध दस्तावेज के आधार  पर  यह जानते हुए की अब आ०न०130 स्थित मौजा चकशाह उर्फ मलिकपुरा में विक्रेता कल्लू के जमीन का अंश शेष नहीं रह गया। कल्लू को अपनी साजिश में करके जानबूझकर लल्लू की जमीन को हड़पने की नीयत से एक साजिश के तहत फर्जी दस्तावेज तैयार कर लल्लू के परिवार को बेदखल करके कब्जा कर लिया। इसके बाबत लल्लू थाना कोतवाली मोहम्मदाबाद में प्रार्थना पत्र के माध्यम से एफआईआर दर्ज करने गया लेकिन लल्लू की रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की गई। इसी प्रकरण को लेकर लल्लू के परिवार व रामकेर कुशवाहा, वीरेंद्र कुशवाहा, सचिन कुशवाहा के बीच कहा सनी हुआ और मौके का फायदा उठाकर रामकेर कुशवाहा, वीरेंद्र कुशवाहा, सचिन कुशवाहा तथा दिनेश वर्मा के कुछ गुंडे लल्लू के परिवार को बुरी तरीके से पीटा जिससे लल्लू , उनकी पत्नी व उसकी पुत्री दिव्या बुरी तरीके से घायल हो गई।लल्लू की पत्नी सुनीता को सर में गंभीर चोटें आईं। जो इलाज के दरमियान मोहम्मदाबाद से उन्हें गाजीपुर रेफर किया गया। और जब स्थिति काबू से बाहर हो गई तब उन्हें गाजीपुर से वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया यह जानकारी लल्लू की पत्नी व उनकी पुत्री दिव्या ने मीडिया को दी और उन्होंने यह भी बताया कि मारने वालों को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया है।अगर इसी तरीके से प्रशासन की लापरवाही रही तो ऐसे लोगों का मन और भी दिन पर दिन बढ़ता चला जाएगा। ऐसे लोगों पर प्रशासन को सख्त से सख्त कार्यवाही करनी चाहिए ताकि इस तरह का कार्य भविष्य में किसी के साथ ना हो पाए।

24 views0 comments

Comments


bottom of page