top of page
Search
  • alpayuexpress

गाजीपुर कोतवाल का कारनामा!...हिस्ट्रीशीटर को कोतवाली में बुलाकर ,गर्भवती गाय की कोतवाल ने की सौंदेबा

गाजीपुर कोतवाल का कारनामा!...हिस्ट्रीशीटर को कोतवाली में बुलाकर ,गर्भवती गाय की कोतवाल ने की सौंदेबाजी


⭕एसपी कार्यालय से कुछ ही दूरी पर हुआ कारनामा!...कोतवाल के कारनामे ने पुलिस विभाग को किया शर्मसार


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर एक ऐसा मामला सामने आया है जो पूरे जिले में पुलिस विभाग चर्चा में बना हुआ है आखिर एक अपराधी को कोतवाली में बुलाकर सौदेबाजी करना यह कहां तक उचित है अगर गाजीपुर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों में थोड़ा भी पुलिस की छवि को लेकर चिंता होगी तो इस मामले पर जांच कर कोतवाल पर कार्रवाई जरूर होनी चाहिए, आपको बताते चलें अब तक जर,जोरु और जमीन पर किसी के दिल आने की कहावत आप ने सुनी होगी, लेकिन इससे अलग हटकर एक वाकया शहर में हुआ है। जिसमें शहर कोतवाल का दिल एक कुख्यात हिस्ट्रीशीटर के घर पर मौजूद एक गिर नस्ल की गाय पर आ गया है। फिर क्या! कोतवाल साहब ने आव न देखा ताव तत्काल ही हिस्ट्रीशीटर को कोतवाली में हाजिर होने का फरमान भेज दिया। कोतवाल का फरमान सुनने के बाद हिस्ट्रीशीटर की क्या विसात वह उल्टे पांव कोतवाली में हाजिर हो गया, जहां काफी देर तक गाय के सम्बंध में सौंदेबाजी का दौर चला। विभाग से जुड़े सूत्र बताते है कि सौंदा तय हो गया है। गर्भवती गाय के अजन्मे बच्चे को बाहरी दुनिया में आने के बाद यह निर्णय होगा कि कोतवाल साहब गाय लेगे या फिर उसके बच्चे को। हालांकि ज्यादा उम्मीद गाय के बच्चे को ही लेने की है, लेकिन असली सौंदा गाय का उसके बच्चे के जन्म होने के बाद ही होगा। हिस्ट्रीशीटर को कोतवाली में देखकर काफी लोग आश्चर्य में पड़ गये। क्योकि जिस हिस्ट्रीशीटर का जिक्र इस खबर में है वह कुछ समय से पूरे जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है।

हिस्ट्रीशीटर की कहानी पुलिस की जुबानी

शहर कोतवाली क्षेत्र के डिलिया गांव निवासी प्रमोद उर्फ पप्पू गिरि शहर कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर होने के साथ ही सजायाफ्ता अभियुक्त भी है। बीते तीन मार्च को पप्पू गिरि ने तहरीर दी थी कि मुख्तार के शूटर अंगद राय से उसे जान का खतरा है। उसने आरोप लगाया था कि एक पुराने मुकदमे में अंगद राय गवाही न देने के लिए उसपर दबाव बना रहे है। ज बवह नहीं माना तो अंगद ने हिस्ट्रीशीटर अमित राय व विश्वनाथ राय को उसके घर पर भेजा। दोनों उसके घर आने के बाद जान से मारने की धमकी देने के साथ ही पांच लाख रुपये रंगदारी की डिमांड भी किये। इस मामले में पप्पू गिरि की तहरीर पर पुलिस ने अंगद राय समेत अमित राय व विश्वनाथ राय के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया था। वर्तमान में तीनों आरोपित इस केस में जमानत पर है।

एचएस ने पशु प्रेमी होने का फैलाया है मकड़जाल

सूत्रों के मुताबिक एचएस (हिस्ट्रीशीटर) पप्पू गिरि पशु प्रेमी होने का मकड़जाल फैलाये हुए है। उसके पास गिर नस्ल की एक काफी अच्छी और किमती गाय मौजूद है। जो कि गर्भवती भी है। जब इसकी जानकारी शहर कोतवाल तेजबहादुर सिंह को हुई तो उनका दिन गाय पर आ गया। सौंदा पटाने के लिए उन्होंने हिस्ट्रीशीटर को खुद कोतवाली में बुलाया जहां काफी देर तक उससे बात की। दोनों लोगों के बीच क्या बात हुई और नतीजा कहा तक पहुंचा यह तो बता पाना मुश्किल है, लेकिन इतना जरुर है कि गाय को लेकर दोनों के बीच कोई न कोई समझौता अवश्य हो गया है।

पहले अंगद राय फिर गाय को लेकर चर्चा में आया एचएस

यह सच्चाई है कि पहले अंगद राय वाले मामले को लेकर ही हिस्ट्रीशीटर पप्पू गिरि चर्चा में आया और अब हाल फिरहाल में अपनी गिर नस्ल की गाय को लेकर चर्चा में बना हुआ है। उसके अहाते में पाली गई गई गाय की खूबी के बारे में काफी लोग बताते है। चर्चा यह हो रही है कि क्या इस गाय को लेकर पुलिस और एक हिस्ट्रीशीटर के बीच इतनी नजदीकी हो गई है कि एक एक ही केबिन में अकेले बैठकर वार्ता कर रहे है।

234 views0 comments
bottom of page