top of page
Search
  • alpayuexpress

गांजे की दुकान आखिर किसके सह पर चल रही है!...बिना लाइसेंस के जनपद में कई जगह चल रही भांग के जगह गांज

गांजे की दुकान आखिर किसके सह पर चल रही है!...बिना लाइसेंस के जनपद में कई जगह चल रही भांग के जगह गांजे की दुकान


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


ग़ाज़ीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर भांग की दुकानों पर धड़ल्ले के साथ हो रही गांजे की बिक्री से नागरिकों में आक्रोश है। नागरिकों का आरोप है कि अपकारी के संरक्षण में कारोबार फलफूल रहा है।

प्रदेश की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए सरकार ने छोटे मोटे कस्बों में भी सरकारी भांग की दुकानों का आवंटन कर रखा है, जबकि भाग के लाइसेंस की आड़ में दुकानदारों द्वारा भांग के साथ-साथ प्रतिबंधित गांजा भी बेचा जा रहा है। भाग के दुकानों पर आसानी से उपलब्ध गांजे से नशेड़ियों की चांदी हो जाती है। कहा जा रहा है कि इस गोरखधंधे की जानकारी होने के बावजूद अपकारी बिभाग के आला अधिकारी मौन धारण किए रहती है। स्थानीय नागरिकों में इसको लेकर आक्रोश है। लोगों का कहना है कि जब सरकार भांग की दुकानों पर गांजा बिकवा रही है तो फिर पान मसाला व गुटखा पर प्रतिबंध कैसे लगाएगी। आपको बता दें कि गाजीपुर जनपद में तो कई दुकानें कागज में ही नही है फिर भी गाजे की बिक्री चरम पर है जैसे शादियाबाद ,जखनिया पहलवानपुर यिन दुकानों का कागज में नाम ही नही है फिर भी गाजे की बिक्री चरम पर वही मरदह में एक दुकान का लाइसेंस है और तीन दुकान पर गाजे बेचा जाता है कुल तीन दुकान चलती है अपकारी के सह पर।

जब इस विसय में अपकारी अधिकारी देवेंद्र जैन से बात हुवी तो उन्होंने चुप्पी साध ली फिर खबरों की जानकारी किस्से ली जाए।

2 views0 comments
bottom of page