top of page
Search
  • alpayuexpress

खुशियां बदल गई मातम में!...इकलौते पुत्र के साथ सड़क दुर्घटना में हेड कांस्टेबल(एसआई पद पर प्रोन्नत)क

खुशियां बदल गई मातम में!...इकलौते पुत्र के साथ सड़क दुर्घटना में हेड कांस्टेबल(एसआई पद पर प्रोन्नत)की हुई मौत,परिवार के अन्य लोग हुवे गंभीर घायल


मोहम्मद इसरार पत्रकार (उप संपादक)


गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर सैदपुर निवासी एसआई पद पर प्रोन्नत हुए हेड कांस्टेबल की सड़क दुर्घटना में मौत, काफी मन्नतों के बाद हुए 3 साल के बेटे व चालक ने भी तोड़ा दम

गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर सैदपुर थानाक्षेत्र के शेखपुर गांव निवासी यूपी पुलिस में एसआई पद की प्रोन्नति पाकर प्रशिक्षण ले चुके हेड कांस्टेबल की लखनऊ-बहराइच मार्ग स्थित फखनपुर थानाक्षेत्र के मदन कोठी गांव के पास सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। वो अपने परिवार के साथ जा रहे थे, इस बीच गाड़ी सड़क किनारे खड़ी ट्रैक्टर ट्रॉली में घुस गई। घटना संभवतः चालक को झपकी आने के चलते हुई। जिसमें हेड कांस्टेबल सहित काफी मन्नतों के बाद हुए उनके इकलौते पुत्र व चालक की मौत हो गई। वहीं उनकी मासूम बेटी व पत्नी बुरी तरह से घायल हो गईं। दोनों को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। शेखपुर निवासी 48 वर्षीय सुरेश कुमार त्यागी पुत्र स्व. रामू राम 1997 में यूपी में पुलिस में भर्ती हुए थे और वर्तमान में बतौर हेड कांस्टेबल बहराईच के रिसिया थाने में मुंशी के पद पर तैनात थे। उनका प्रमोशन एसआई पद के लिए हुआ था। जिसके लिए उन्होंने प्रशिक्षण भी पूरा कर लिया था और अब कंधे पर दो स्टार लगना बाकी था। परिवार के साथ वो वहीं पर रहते थे। काफी समय पूर्व शादी होने के बावजूद उन्हें कोई संतान नहीं थी। जिसके बाद परिवार व दंपति ने काफी जगहों पर मन्नतें मांगी। आखिरकार 3 साल पूर्व उन्हें जुड़वा संतान हुई। जिसमें बेटे का नाम बासू व बेटी का नाम बन्नी रखा। वो छुट्टी पर घर आए हुए थे। यहां से वापिस ड्यूटी जाने के लिए उन्होंने अपनी गाड़ी लेकर अपने वहीं के ड्राइवर रिसिया थानाक्षेत्र के भोपतपुर निवासी याकूब पुत्र मोहिउद्दीन को बुलाया। इसके बाद सभी लोग गाड़ी से ड्यूटी के लिए रवाना हुए। इस बीच रात एक बजे संभवतः चालक की आंख लग गई और कार सड़क किनारे खड़ी ट्रैक्टर से टकरा गई। जिसके चलते चालक सहित सुरेश व कई सालों के बाद काफी मन्नतों के बाद पैदा हुए इकलौते बेटे 3 वर्षीय बासू की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं पत्नी पुष्पा 45 व बेटी बन्नी 3 गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर तत्काल थानाध्यक्ष अनुज त्रिपाठी मय फोर्स पहुंचे और और घायलों को जिला अस्पताल भेजा। जहां बेटे को मृत घोषित कर दिया गया। वहीं बाकियों को राजधानी के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर किया गया। वहां इलाज के दौरान सुरेश व याकूब की भी मौत हो गई। सीओ आनंद कुमार मौके पर पहुंचे। घटना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया है। सैदपुर स्थित घर पर सभी का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक 4 भाईयों में सबसे छोटे थे। सभी भाई सरकारी नौकरी में थे। उनके बड़े भाई छोटेलाल एडीओ एजी पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं और यहीं घर पर ही रहते हैं। वहीं दूसरे नंबर के भाई स्व. अच्छेलाल भी यूपी पुलिस में एसआई थे लेकिन हृदयगति रूकने से उनकी मौत हो चुकी है। इसके अलावा तीसरे नंबर पर अशोक त्यागी हैं और वो वर्तमान में गाजीपुर में एडीओ एजी पद पर कार्यरत हैं। सबसे छोटे सुरेश ही थे। सभी का रो-रोकर बुरा हाल है।

6 views0 comments

Kommentare


bottom of page