Search
  • alpayuexpress

खबर का असर, नवागत एसएसपी ने पत्रकार के साथ मारपीट के मामले का लिया संज्ञान



खबर का असर, नवागत एसएसपी ने पत्रकार के साथ मारपीट के मामले का लिया संज्ञान


जुलाई बुधवार 15-7-2020


( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस-Alpayu Express)



ट्रेनी आईपीएस कैंट मुस्ताक दिलाएंगे न्याय


*वाराणसी।* बीते सोमवार की देर रात कवरेज कर रहे पत्रकार से पुलिसकर्मियों द्वारा बदसलूकी किये जाने के प्रकरण में एसएसपी ने जांच सीओ कैंट को सौंप दिया है। मामले को संज्ञान में लेते हुए एडीजी वाराणसी ने वाराणसी पुलिस से जानकारी मांगी थी। वाराणसी पुलिस की तरफ से मामले की सत्यता की जांच के लिए सीओ कैंट को प्रेषित किया गया है।


बता दें कि सोमवार की देर रात पांडेयपुर चौराहे पर किसी पुलिसकर्मी को न देखकर निजी संस्थान के पत्रकार ने वीडियो बनाया था। लगातार बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण के बीच किसी पुलिसकर्मी का चौराहे पर मौजूद ना होना गंभीर विषय था। डीएम की तरफ से सख्त निर्देशित किया गया है कि शाम 5:00 बजे के बाद कोई भी व्यक्ति सड़कों पर घूमता हुआ नहीं दिखाई देगा। इसके लिए पुलिसकर्मी गश्त भी करेंगे लेकिन चौराहे पर कोई जिम्मेदार नहीं दिखा। इसी वजह से पत्रकार ने सच्चाई को दिखाने के लिए वहां का वीडियो बनाया, जिसको लेकर पांडेयपुर पुलिस चौकी पर तैनात चौकी इंचार्ज और कुछ पुलिसकर्मियों द्वारा पीड़ित पत्रकार का मोबाइल छीनकर वीडियो डिलीट करने की कोशिश की गई। इस दौरान आरोप है कि पत्रकार के साथ बदसलूकी और मारपीट भी की गई।


इस मामले में एडीजी जोन की तरफ से मामले को संज्ञान में लेकर वाराणसी पुलिस से स्पष्टिकरण मांगा गया था। वहीं वाराणसी पुलिस ने पूरे मामले की जांच के लिए सीओ कैंट मुस्ताक अहमद को कह दिया है। हालांकि प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं होती। वीडियो में साफ-साफ दिख रहा कि पांडेपुर चौराहे पर कोई पुलिसकर्मी मौजूद नहीं है। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मी पीड़ित पत्रकार के हाथ से मोबाइल भी छीनते हुए दिख रहे हैं। अब देखने वाली बात यह होगी कि ट्रेनी आईपीएस/सीओ कैंट की जांच में पुलिसकर्मियों पर दोष साबित होता है अथवा मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।

1 view0 comments