Search
  • alpayuexpress

कृष्णानंद राय हत्याकांड: शूटर फिरदौस को मार गिराने वाली इस STF टीम को 14 साल बाद गैलेंट्री अवार्ड



कृष्णानंद राय हत्याकांड: शूटर फिरदौस को मार गिराने वाली इस STF टीम को 14 साल बाद गैलेंट्री अवार्ड


अगस्त शनिवार 15-8-2020

( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस-Alpayu Express)

*लखनऊ .* उत्तर प्रदेश से उत्कृष्ट वीरता के लिए राष्ट्रपति पुलिस गैलंट्री अवॉर्ड की घोषणा हो गई है. गृह विभाग में सचिव एसके भगत, आईजी भर्ती बोर्ड विजय भूषण, *एसपी बाराबंकी डॉ अरविंद चतुर्वेदी,* डिप्टी एसपी, मऊ धनंजय मिश्रा को गैलेंट्री अवॉर्ड के लिए चयनित किया गया है. बता दें ये वो टीम है, जिसने बीजपी विधायक कृष्णानंद राय की 2005 में हुई हत्या में शामिल शूटर फिरदौस को मुंबई के एक मॉल में हुए एनकाउंटर में मार गिराया था. खास बात ये है कि आईजी विजय भूषण को मिलने वाला ये 5वाां गैलंट्री अवॉर्ड है.


साल भर की तलाश के बाद मुंबई में मिला सुराग


बात 2005 की है. बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के बाद यूपी की सियासत में उबाल आ गया था. उस समय एसटीएफ की टीम मामले में आरोपी शूटर मुन्ना बजरंगी, अताउर्रहमान, विश्वास नेपाली, राकेश पांडे और फिरदौस की तलाश में थी. 2006 में पता चला कि ये सभी मुंबई में छिपे हैं.


मॉल में दिख गया फिरदौस


एसटीएफ के तत्कालीन एसपी एसके भगत, एडिशनल एसपी विजय भूषण, डिप्टी एसपी अरविंद चतुर्वेदी, इंस्पेक्टर धनंजय मिश्रा की टीम मुंबई में थी. इस दौरान एक सुबह फोन इंटरसेप्शन में आरोपियों के मलाड के एक मॉल में जाने की जानकारी मिली. सूचना मिलते ही एसपी एसके भगत की अगुआई में एक टीम उस मॉल में पहुंची, जहां उन्हें फिरदौस दिख गया.


भरी दोपहर भीड़ के बीच पुलिस एनकाउंटर


दोपहर के ढाई बज रहे थे और मॉल में भीड़ भी थी. लेकिन टीम फिरदौस को हाथ से जाने नहीं देना चाहती थी. इस दौरान टीम ने फिरदौस को रोकने का प्रयास किया तो फिरदौस ने अपनी दो पिस्टल के साथ फायरिंग शुरू कर दी. मॉल में ही एनकाउंटर शुरू हो गया. इसके बाद पुलिस की जवाबी फायरिंग में फिरदौस मारा गया.

1 view0 comments