Search
  • alpayuexpress

कुलगाम में मुठभेड़, सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, 12 घंटों के दौरान 7 आतंकी ढेर





( किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार की रिपोर्ट )


कुलगाम में मुठभेड़, सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, 12 घंटों के दौरान 7 आतंकी ढेर


श्रीनगर। पिछले बारह घंटों के दौरान सुरक्षाबलों ने दूसरी बड़ी कामयाबी हासिल की है। जिला कुलगाम में काजीगुंड के लोअर मुंडा इलाके में सोमवार सुबह आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच चल रही मुठभेड़ में तीन आतंकवादियो को मार गिराया गया है। फिलहाल दोनों ओर से गोलीबारी बंद हो चुकी है परंतु सुरक्षाबलों ने इलाके में और आतंकवादियों के छिपे होने की आशंका के चलते सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है। मारे गए आतंकवादियों में टीआरएफ कमांडर आकिब निवासी काकापोरा भी शामिल है। हालांकि अधिकारिक तौर पर अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की गई है।

मारे गए सभी आतंकवादी का शव सुरक्षाबलों ने अपने कब्जे में ले लिया है। उनसे काफी मात्रा में हथियार व गोलाबारूद भी बरामद हुआ है। मारे गए आतंकवादियों की अभी पहचान तो नहीं हो पाई है परंतु पुलिस सूत्रों का कहना है कि हमला करने वाले ये आतंकी द रजिस्टेंस फ्रंट (The Resistance Front (TRF)) के बताए जा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार मारे गए आतंकवादियों की पहचान टीआरएफ कमांडर आकिब अहमद निवासी काकापोरा पुलवामा, बिलाल निवासी पुलवामा के तौर पर हुई है। तीसरे आतंकवादी की फिलहाल पहचान तो नहीं हो पाई है परंतु वह कुलगाम का ही बताया जा रहा है। हालांकि अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि होना बाकी है।

पुलिस के अनुसार जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर स्थित काजीगुंड में लोअर मुंडा इलाके में सोमवार सुबह आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों के एक गश्ती दल पर अचानक गोलीबारी शुरू कर दी। हालांकि इस गोलीबारी में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। सुरक्षाबलों ने अपनी पोजीशन लेते हुए आतंकवादियों पर जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी। इसी बीच अन्य सुरक्षाबलों को भी सूचित कर दिया गया। हमला करने वाले आतकवादियों की संख्या तीन बताई जा रही थी। पुलिस की एसओजी की टीम, सेना की 19 आरआर और सीआरपीएफ की 24 बटालियन के जवान अभियान में शामिल हैं।

जवानों की जवाबी कार्रवाई के बाद ये आतंकवादी लोअर मुंडा में एक रिहायशी इलाके में छिप गए। आतंकवादियों को घेरने के बाद सुरक्षाबलों ने उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए कहा परंतु उनकी बातों को अनसुना करते हुए उन्होंने गोलीबारी जारी रखे। मुठभेड़ के एक-डेढ़ घंटे के भीतर ही सुरक्षाबलों ने आतंकवादी को मार गिराया था जबकि करीब 10 बजे तक तीनों आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया था। फिलहाल गोलीबारी दोनों ओर से बंद है परंतु सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन जारी रखा हुआ है। तीनों आतंकियों के शवों को सुरक्षाबलों ने अपने कब्जे में ले लिया है। फिलहाल उनकी पहचान नहीं हो पाई है परंतु ये आतंकी टीआरएफ के सदस्य बताए जा रहे हैं। मारे गए आतंकवादियों से हथियार व गोलाबारूद भी बरामद हुआ है।

जिला कुलगाम में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई यह दूसरी मुठभेड़ थी। पिछले 12 घंटों के भीतर सुरक्षाबलों ने सात आतंकवादियों को मार गिराया गया है। वहीं अप्रैल में ही सुरक्षाबल के जवानों ने करीब 19 आतंकवादियों को ढेर कर दिया है। गत रविवार शाम को कुलगाम के अस्थाल इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में चार आतंकवादियों को मार गिराया गया था हालांकि इस हमले में सेना का एक मेजर भी घायल हुआ है। लोअर मुंडा के जिस इलाके में अभी मुठभेड़ चल रही थी, ये इलाका अस्थाल से बीस किलोमीटर की दूरी पर है।

कुलगाम में मारे गए थे चार आतंकी

इससे पहले कुलगाम जिले में कल ही सुरक्षाबलों को एक बड़ी कामयाबी मिली थी। मुठभेड़ में चार आतंकियों को ढेर कर दिया गया था। कुलगाम जिले के गुदर इलाके में रविवार शाम को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो गई।इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया था। वहीं, एक मेजर घायल हो गए थे।

रविवार देर शाम जिला कुलगाम के अस्थल क्षेत्र में करीब चार घंटे चली मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया था। इस दौरान एक मेजर के घायल होने की सूचना है। मुठभेड़ स्थल से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया था। कश्‍मीर जोन पुलिस ने बताया कि इस ऑपरेशन में सेना, सीआरपीएफ और पुलिस के जवानों ने संयुक्‍त रूप से भाग लिया। आतंकियों के खिलाफ चलाए गए अभियान में इसे बड़ी कामयाबी माना जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार, सेना ने एक अप्रैल से अब तक 26 आतंकवादियों को मार गिराया है। वहीं, इस साल अब तक मारे गए आतंकवादियों की संख्या 58 हो गई है। सेना की राष्ट्रीय राइफल, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस मिलकर कश्मीर में छिपे आतंकवादियों पर सटीक प्रहार कर रही है।

बताया जाता है कि जम्मू-कश्मीर में हालात बिगाड़ने के लिए सरहद पार से आतंकी संगठन बड़े पैमाने पर साजिश कर रहे हैं। यही कारण है कि लगातार तीन दिनों में तीन मुठभेड़ हुई हैं। इनमें सेना, सुरक्षाबलों ने अनंतनाग व पुलवामा जिलों में चार आतंकवादियों को मार गिराया है। जम्‍मू-कश्‍मीर में आतंकी घटनाओं में इजाफा हुआ है। आतंकी आए दिन वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। कश्मीर में बीते दस दिनों में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर पांच बार हमला किया है। हालांकि सुरक्षा बलों की मुस्‍तैदी के कारण कोई बड़ी घटना नहीं होने पा रही है।

3 views0 comments