Search
  • alpayuexpress

कोरोना वायरस महामारी के खौफ के बीच दिल्लीवालों में भूकंप को लेकर भी दहशत फैल गई है




कोरोना वायरस महामारी के खौफ के बीच दिल्लीवालों में भूकंप को लेकर भी दहशत फैल गई है


अल्पायु एक्सप्रेस


किरण नाई - मुख्य संपादक


(RNI - सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार से पंजीकृत)


कोरोना वायरस महामारी के खौफ के बीच दिल्लीवालों में भूकंप को लेकर भी दहशत फैल गई है। पिछले 60 दिनों में दिल्ली-एनसीआर में 14 बार भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं। ताजा झटका कल सोमवार को आया जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 2.1 मापी गई, बता दें कि 29 मई, 2020 को सबसे ज्यादा 4.5 तीव्रता वाला भूकंप आया था। बार-बार आ रहे इन भूकंप को लेकर विशेषज्ञों ने जो बताया वह चिंताजनक है।


6.5 तीव्रता का भूकंप आने की संभावना......


एक्सपर्ट का मानना है कि दिल्ली में लगातार आ रहे भूकंप के पीछे का कारण दिल्ली-एनसीआर का फॉल्ट है जो इस समय सक्रिय हैं। विशेषज्ञों के अनुसार इन फॉल्ट के चलते दिल्ली-एनसीआर में 6.5 तीव्रता का भूकंप आ सकता है जो काफी विनाशकारी साबित हो सकता है। यह बात चिंताजनक इसलिए भी है क्योंकि भूकंप की भविष्यवाणी करना संभव नहीं है और ना ही इससे संबंधित कोई उपकरण मौजूद है।


फॉल्ट एक्टिव होना भूकंप का कारण......


एनसीएस (नैशनल सेंटर ऑफ सिस्मेलॉजी) के रिकॉर्ड के मुताबिक सन 1700 से अब तक दिल्ली एनसीआर के फॉल्ट में रिक्टर स्केल पर 4 से 6 या इससे अधिक तीव्रता का भूकंप आया है। फॉल्ट के एक्टिव होने के कारण ही 27 अगस्त 1960 में 6 तीव्रता वाला भूकंप आया था, जिसके केंद्र हरियाणा का फरीदाबाद शहर था। वहीं साल 1803 में 6.8 की तीव्रता से भूकंप के झटके महसूस किए गए थे जिसका केंद्र उत्तर प्रदेश के मथुरा में था।


8 तीव्रता वाला भूकंप भी आ सकता है.....


एक्सपर्ट के अनुसार अभी दिल्ली-एनसीआर में एक्टिव फॉल्ट की जो स्थिति है उसमें 6.5 तीव्रता का भूकंप आने की संभावना है। एनसीएस के पूर्व हेड डॉ. एके शुक्ला ने बताया की राजधानी दिल्ली भूकंप संभावित जमीन पर स्थित हैं, इसके अलावा हिमालय बेल्ट से भी इसे काफी खतरा है। इसके चलते यहां 8 तीव्रता वाला भूकंप भी आ सकता है। उन्होंने आगे कहा कि अगर हिमालयी बेल्ट में बड़ा भूकंप आता है, तो राजधानी पर इसका काफी असर पड़ सकता है ।

2 views0 comments