top of page
Search
  • alpayuexpress

क्यों डाली जाती है मरने के बाद नाक और कान में रुई जान कर चौंक जायेंगे आप



( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस-Alpayu Express)


मई मंगलवार 5-5-2020


क्यों डाली जाती है मरने के बाद नाक और कान में रुई जान कर चौंक जायेंगे आप


मौत ऐसा सच है जिसे वेदों में अटल कहा गया है यानि जिसका जन्म हुआ है उसकी मौत होगी ही होगी, पर क्या आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया की जब भी कोई इन्सान मर जाता है तो उसके नाक और कान में रुई डाल दी जाती है। नाक और कान में रुई डालना कोई नयी बात नहीं है पर क्या आप जानते है ऐसा क्यों किया जाता है, ज्यादातर लोगो इस बारे में नहीं जानते क्योंकि हम उसी बात को जान पाते है जो हमारे साथ जीते जी होती है।


आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे है की ऐसा क्यों किया जाता है, इस बात का जवाब दो तरह से दिया जा सकता है।


अगर विज्ञानं की नजर से देखा जाये तो विज्ञानं कहता है जब भी कोई इन्सान मर जाता है तो उसके शारीर के खुले भागो से कई तरह के तरल निकलते है। जो काफी बदबूदार होते है और इसे सोकने के लिए रुई का इस्तेमाल किया जाता है।


पुराणों में मौत को अंत की बजाय नई शुरुआत कहा गया है, यानि मौत में आत्मा एक शरीर को छोड़ कर दुसरे शारीर में प्रवेश करती है, और आत्मा के इसी काम को सरल बनाने के लिये ऐसा किया जाता है।


पुराणों में कहा गया है की आत्मा अगर मस्तिक्ष के उपरी भाग से निगलेगी तो ही दूसरा जन्म होगा नहीं तो आत्मा इसी संसार में भटकती रहेगी इसलिए इंसान के मरने के बाद उसके शारीर के सारे खुले हिस्सों को रुई की मदत से बंद कर दिया जाता है।

6 views0 comments

Comments


bottom of page