top of page
Search
  • alpayuexpress

कुख्यात अपराधी जेल से करता है फोन!...पति को जान से मारने की देता हैं धमकी,पीड़ित ने लगाई मुख्यमंत्री

कुख्यात अपराधी जेल से करता है फोन!...पति को जान से मारने की देता हैं धमकी,पीड़ित ने लगाई मुख्यमंत्री से गुहार


आदित्य कुमार सीनियर क्राइम रिपोर्टर


गाजीपुर:- खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध प्रशासन द्वारा लगातार कार्रवाई की जाती है जिस पर अंकुश लगाया जा सके लेकिन कुछ प्रशासन के बीच के ही ऐसे ही भ्रष्ट कर्मचारी अधिकारी होते हैं जो पुलिस विभाग की छवि को खराब करने के लिए अपराधियों से साठ गांठ रखते हैं। ऐसे ही एक मामले का उजागर हुआ की पीड़ित राजकुमार पटेल पुत्र जवाहिर पटेल निवासी ग्राम औड़िहार गैबीपुर थाना सैदपुर ने बताया कि बीते वर्ष पूर्व मेरे ही भतीजे गोलू द्वारा पहले कुछ जमीनी विवाद चल रहा था इसी का फायदा उठाते हुए मेरे भतीजे की पत्नी नंदिनी गौंड द्वारा बलात्कार किए जाने का फर्जी रिपोर्ट के आधार पर मुकदमा दर्ज कराया गया जब की पीड़ित का कहना है की अगर मैंने बलात्कार किया है तो मेरा मेडिकल कराया जाए।मैं सबसे गुहार लगा रहा हु की मेरा मेडिकल चेकप कराया जाए मैं हमेशा तैयार हु जब चाहे मेरा मेडिकल करा दिया जाए। उसी मामले में मैं पीड़ित गाजीपुर की जिला जेल में लगभग 4 माह बंद था पीड़ित रोज अपने परिवार की याद में रोता था जिसे देख उसी जेल में बंद पीड़ित की मुलाकात शातिर अपराधी रवि पटेल (वाराणसी)से हो गई रवि पटेल ने अपने मोबाइल द्वारा जेल से ही उसकी पत्नी के नो पर फोन लगाया और बातचीत करवाया ऐसे वह कई बार करता रहा।उसी बीच चुपके से पीड़ित की पत्नी का मोबाइल नंबर सेव कर लिया और चोरी-चोरी जबरदस्ती बातचीत भी करने लगा पीड़ित की पत्नी ने बताया कि जब मैं उससे नहीं बात करती तो वह मेरे पति को जान से मारने की धमकी देता और मुझे भद्दी- भद्दी गालियां देता था डर के मारे मैं उससे बात करती थी।जब नहीं रह गया तो पति के जेल से छूटने के बाद सारी बात बताई मेरे पति के द्वारा जब इसका विरोध किया गया तो मेरे आवास पर रवि पटेल अपने गुर्गों को भेजता और पूरे परिवार को जान से मारने व रंगदारी हेतु बार-बार प्रताड़ित करवाता है, बलात्कार की भी धमकी दिलवाता है रंगदारी न देने पर पूरे परिवार को जान से मारने की बार-बार धमकी दिलवा रहा है पीड़ित का परिवार काफी डरा और सहमा हुआ है पीड़ित राजकुमार पटेल ने बताया कि इसके संबंध में लिखित रूप से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जनसुनवाई दरबार में भी प्रार्थना पत्र दिया गया है।अब देखना यह है कि मामले की क्या सत्यता है कौन सही है, कौन गलत आरोप प्रत्यारोप एक जगह है लेकिन इसमें पुलिस विभाग पर सवालिया निशान खड़ा कर रहा है कि जेल के अंदर अपराधियों को कैसे मोबाइल की व्यवस्था की जाती है यह एक जांच का विषय है अगर पीड़ित और आरोपी रवि पटेल के मोबाइल नंबर का जांच किया जाएगा तो पूरी सच्चाई बाहर निकाल कर आएगी और जिला कारागार की चल रही कुंठित व्यवस्था की भी पोल खुल जाएगी।

1 view0 comments

Comments


bottom of page