top of page
Search

किसानों के हित के लिए सदैव चिंतित रहते थे चौधरी साहब- डॉ0 विरेंद्र यादव

गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


किसानों के हित के लिए सदैव चिंतित रहते थे चौधरी साहब- डॉ0 विरेंद्र यादव


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाज़ीपुर। चौधरी चरण सिंह जी के नाम से पुर्वांचल में कृषि विश्वविद्यालय खोला जाय--रामधारी यादव आज दिनांक 23दिसम्बर को समाजवादी पार्टी के तत्वाधान में किसानों के मसीहा एवं देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की 120 वीं जयंती पर जिलाध्यक्ष रामधारी यादव की अध्यक्षता में पार्टी कार्यालय समता भवन पर माल्यार्पण कार्यक्रम एवं विचार गोष्ठी आयोजित हुई । गोष्ठी आरंभ होने के पूर्व सभी कार्यकर्ताओं ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए किसानों के हित में संघर्ष करने का संकल्प लिया ।उनकी जयंती किसान दिवस के रूप में मनाई गई । इस गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त करते हुए विधायक डॉ वीरेंद्र यादव ने चौधरी साहब को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि वह देश के महान नेता और अर्थशास्त्री थे । वह किसानों के हित के लिए सदैव चिंतित रहते थे। उन्होंने मोदी सरकार को किसान विरोधी बताया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के चलते आज देश का किसान आत्महत्या करने को मजबूर है। किसानों की समस्यायों के प्रति मोदी सरकार संवेदनहीन बनी हुई है।यह सरकार पूंजीवाद को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा कि यह सरकार लगातार जुल्म और ज्यादती कर रही है। इनके जुल्म और ज्यादती के खिलाफ संघर्ष करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जुल्म,अन्याय और शोषण के खिलाफ संघर्ष करना हम समाजवादियों का धर्म रहा है। उन्होंने कहा कि चौधरी साहब का जीवन हम सबके लिए प्रेरणादाई है। अपने विचार व्यक्त करते हुए जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने कहा कि चौधरी चरण सिंह जी किसानों के मसीहा थे । वह किसानों की पीड़ा को अपनी पीड़ा समझते थे । वह कहा करते थे कि असली भारत गांव में रहता है ।देश की तरक्की का रास्ता गांव के खेत खलिहानों से होकर गुजरता है । राष्ट्र तभी सम्पन्न हो सकता है जब उसके ग्रामीण क्षेत्र का उन्नयन किया गया हो । उन्होंने पुर्वांचल में चौधरी चरण सिंह के नाम पर कृषि विश्वविद्यालय खोलने की मांग किया। पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा ने कहा कि वह भ्रष्टाचार के घोर विरोधी थे,वह निहायत ईमानदार व्यक्ति थे । वह कहते थे कि जिस देश के लोग भ्रष्ट होंगे वह देश कभी तरक्की नहीं कर सकता । आज जब देश का किसान अपनी समस्याओं को लेकर आंदोलित है,खाद की किल्लत से जूझ रहा है, बढ़े हुए बिजली और डीजल के दामों के चलते उसकी आय निरन्तर घट रही है, किसानों के साथ भाजपा सरकार का रवैया सौतेलापूर्ण और संवेदनहीन हो गया हो ,ऐसे दौर में देश का किसान बहुत ही शिद्दत से चौधरी साहब को याद कर रहा है । इस विचार गोष्ठी में मुख्य रूप से पूर्व जिलाध्यक्ष सुदर्शन यादव, डॉ नन्हकू यादव, राजेश कुशवाहा रामवचन यादव, गोपाल यादव,अरुण कुमार श्रीवास्तव, दिनेश यादव,सदानंद यादव, बृजेश खरवार,गोपाल यादव,राजकिशोर यादव, हरेंद्र विश्वकर्मा,भरत यादव, छन्नू यादव,गोवर्धन यादव, निजामुद्दीन खां,विजय शंकर यादव अमित ठाकुर,जयराम कुशवाहा, रविन्द्र प्रताप

1 view0 comments

Comments


bottom of page