Search
  • alpayuexpress

कन्नौज में शादी के दिन दुल्हन की दर्दनाक मौत, नॉएडा में इलाज के अभाव में गर्भवती महिला की मौत





कन्नौज में शादी के दिन दुल्हन की दर्दनाक मौत, नॉएडा में इलाज के अभाव में गर्भवती महिला की मौत


जुन सोमवार 29-6-2020


( किरण नाई ,वरिष्ठ पत्रकार -अल्पायु एक्सप्रेस-Alpayu Express)


लखनऊ : यूपी सरकार भले ही राज्य के प्रत्येक नागरिक का इलाज कराने का दम भरती हो लेकिन हकीकत इससे कोशो दूर है। ईलाज तो दूर मरीज को अस्पतालों में भर्ती भी नहीं किया जा रहा है। जिसका खामियाजा लोग अपनी जान देकर भुगत रहे हैं।

जी हां, बीते दिनों नोएडा में इलाज न मिलने के कारण 8 महीने की गर्भवती महिला की मौत हो गई थी। इसी तरह का एक और मामला कन्नौज जिले से सामने आया है। जहां इलाज के अभाव में शादी के ही दिन दुल्हन की दर्दनाक मौत हो गई। जिस घर में शादी की शहनाईयां बज रही थी अब उस घर में मातम पसर गया है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दुल्हन के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस के आलाधिकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की बात कर रहे हैं।

मामला ठठिया थाना इलाके के भगत पुरवा गांव का है। यहां मृतक दुल्हन विनीता का विवाह कानपुर देहात जिले के रसूलाबाद निवासी संजय के साथ होना था। विवाह वाले घर में चारो तरफ खुशियां थी। देर शाम दूल्हा संजय बारात लेकर भगत पुरवा गांव पहुँचा था। शादी की रस्में निभाई जा रही थी तभी दुल्हन विनीता की तबियत खराब हो गयी।

परिवार वाले बीमार विनीता को प्राइवेट अस्पताल ले गए वहां डॉक्टरों ने कोरोना के डर से इलाज करने से मना कर दिया। फिर मेडिकल कॉलेज ले गए जहां हल्का उपचार कर उसको कानपुर रिफर कर दिया गया। कानपुर में भी कोरोना का खौफ देखने को मिला। यहां भी डॉक्टरों ने इलाज से इनकार कर दिया। इलाज न मिलने के अभाव में विनीता ने दम तोड़ दिया। विनीता की मौत की खबर घर आते ही कोहराम मच गया। दूल्हे संजय को बिन दुल्हन बारात वापस ले जानी पड़ी।


पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद होगी कार्रवाई: एसपी


पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह की माने तो मामले की सूचना डॉयल 112 को दी गयी थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।


बीते दिनों इलाज के अभाव में 8 महीने की गर्भवती महिला की हुई थी मौत


गौरतलब है कि बीते दिनों नोएडा में इलाज न मिलने के कारण 8 महीने की गर्भवती महिला की मौत हो गई थी। गर्भवती महिला और उसका परिवार 13 घंटे तक 8 अस्पतालों के चक्कर लगाता रहा और रहम की भीख मांगता रहा लेकिन किसी ने भी महिला को भर्ती नहीं किया। कहीं कोरोना के डर से मना किया गया तो कहीं बेड न होने की बात कही गई। आखिरकार ऐंबुलेंस में ही महिला ने दम तोड़ दिया।

2 views0 comments