top of page
Search
  • alpayuexpress

उद्योग,व्यापार बन्धु की बैठक राइफल क्लब सभागार में जिलाधिकारी आर्यका अखौरी की अध्यक्षता में हई सम्पन

उद्योग,व्यापार बन्धु की बैठक राइफल क्लब सभागार में जिलाधिकारी आर्यका अखौरी की अध्यक्षता में हई सम्पन्न


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


गाजीपुर। खबर गाजीपुर जिले से है जहां पर जिला उद्योग बन्धु/व्यापार बन्धु की बैठक मंगलवार को राइफल क्लब सभागार में जिलाधिकारी आर्यका अखौरी की अध्यक्षता में सम्पन्न हई। जिसमें विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा एवं निर्णय लिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के निवेशको को निवेश मे किसी भी प्रकार की कोई भी समस्याओ का निराकरण प्राथमिकता के तौर पर कराते हुए समस्याओ का निदान किया जाये। उपायुक्त उद्योग ने बताया कि एम एस एम ई विभाग में अब तक कुल 106 एम ओ यू जारी है जिसमें 466.63 करोड़ निवेश है। जिसकी गहन समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि 60 ईकाईयां धनराशि 217.78 करोड़ संचालन हेतु गंभीर हैै तथा 46 ईकाईयां धनराशि 248.85 करोड़ संचालन हेतु गंभीर है। जिलाधिकारी ने संचालन ईकाईयों की दिन-प्रतिदिन स्थिति की जानकारी प्राप्त करते हुए उनकी समस्यो को सम्यान्तर्गत निस्तारित कराने का निर्देश दिया। जिससे माह सितम्बर मे प्रस्तावित जी बी सी मे इकाईयों द्वारा प्रतिभाग किया जा सके। इसके अतिरिक्त आवास विभाग मे 1 ए एम यू ,धनराशि 18 करोड़, यू पी एस आई डी ए विभाग में 1 ए एम यू धनराशि 150 करोड़, ट्रांसपोर्ट विभाग में 1 एम एम यू धनराशि 3 करोड़, आबकारी मे 1 धनराशि 179 करोड़, उद्यान विभाग मे 5 ए एम यू धनराशि 35 करोड़, पर्यटन में 8 ए एम यू धनराशि 18 करोड़, आई टी एण्ड इलेक्ट्रानिकक्स विभाग मे 1 ए एम यू धनराशि 1 करोड, अतिरिक्त उर्जा विभाग में 5 ए एम यू धनराशि 1083 करोड़, को आपरेटिव में 11 ए एम यू धनराशि 26.70 करोड़, मत्स्य विभा में 1 ए एम यू धनराशि 1 करोड़, वन विभाग में 3 ए एम यू धनराशि 7 करोड़, सेकेण्डरी एजुकेशन विभाग में 3 ए एम यू धनराशि 20.50 करोड़, तकनीकी शिक्षा विभाग में 3 ए एम यू धनराशि 5.50 करोड़, चिकित्सा में 7 ए एम यू धनराशि 31 करोड़, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन में 2 ए एम यू धनराशि 7 करोड़, चिकित्सा स्वास्थ्य में 7 ए एम यू धनराशि 112 करोड़, दुग्ध विकास में 11 ए एम यू धनराशि 273 करोड़, पशु पालन विभाग में 49 ए एम यू धनराशि 137.95 करोड़ निवेश किया गया है।

जिलाधिकारी ने संचालन ईकाईयों की दिन-प्रतिदिन स्थिति की जानकारी प्राप्त करते हुए उनकी समस्याओ को सम्यान्तर्गत निस्तारित कराने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने अग्रणी जिला प्रबन्धक को निवेशको की ऋण की समस्याओ के निराकरण के सम्बन्ध में आवश्यक कार्यवाही करते हुए निवेशको को जो भी ऋण पत्रावली प्राप्त हो उस पर व्यक्तिगत ध्यान देते हुए अपने स्तर से शाखा प्रबन्धको को निर्देशित किया जाये ताकि समयान्तर्गत निवेशको को ऋण मुहैया कराया जाये एवं छोटी-छोटि कमियो के कारण निवेशको का ऋण पत्रावली अनावश्यक विलम्ब न हो। निवेशको के अनापत्तियो से सम्बन्धित समस्या पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को समयान्तर्गत अनापत्ति निर्गत करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होने निवेश मित्र पोर्टल पर लंबित प्रकरणो , प्राप्त शिकायतो, अनुमतिया, अनापत्तियो, पंजीयन लाइसेंस आदि समयान्तर्गत निर्गत करने का निर्देश दिया। बैठक में जिलाधिकारी ने निवेशको के भूमि से सम्बन्धित समस्याओ पर चर्चा, व्यापारियो की समस्याओ पर चर्चा, विद्युत बिल सम्बन्धित समस्या पर चर्चा, औद्योगिक आस्थान नन्दगंज में सड़क, नाली, बाउण्डरी निर्माण, निवेश मित्र पोर्टल पर प्राप्त अनुमतियां, अनापत्तिया, पंजीयन, लाईसेन्स आदि पर चर्चा, की गयी। जिलाधिकारी ने सरकार की तरफ से चलाई जा रही योजनाओ में आम लोगो को अधिक से अधिक इसका लाभ प्राप्त हो तथा उद्योगो के विकास में बैंको से अधिकाधिक सहयोग हेतु जिला अग्रणी प्रबंधक से अपेक्षा की तथा उद्यामियों के शिकायतो को सम्बन्धित अधिकारियों को समय से निस्तारण का निर्देश दिया। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, उपायुक्त उद्योग जिला उद्योग प्रोत्साहन तथा उद्यमिता विकास केन्द्र प्रवीण मौर्या, सहित अन्य सम्बन्धित जनपद स्तरीय अधिकारी एवं जनपद के उद्यमी उपस्थित थे।

1 view0 comments
bottom of page