Search
  • alpayuexpress

अरे यह क्या रक्षक पुलिस को ही पत्रकार भक्षक कहने लगे



कमजोर दिल वाले ना पड़े


अरे यह क्या रक्षक पुलिस को ही पत्रकार भक्षक कहने लगे


जुलाई सोमवार 13-7-2020


(अनिकेत सिंह की रिपोर्ट)


पुलिस विभाग सही पत्रकारों की पहचान करके शिष्टाचार एवं शालीनता से पत्रकारों के साथ पेश आए और सूचना विभाग से सही जानकारी लेकर फर्जी लोगों पर कार्रवाई करें*


*गाजीपुर-* खबर है सेवराई तहसील के अंतर्गत गहमर थाने की जहां के पुलिसकर्मी अंजनी राय पर पत्रकार ने बदसलूकी और फोन पर धमकी देने का आरोप लगाया है यह कहां तक सही है यह तो एक जांच का विषय है लेकिन हर बार अल्पायु एक्सप्रेस न्यूज़ द्वारा पुलिस विभाग को सूचित किया गया है व हमारे द्वारा जागरूकता की पहल भी की गई हैं लेकिन फर्जी लोग प्रतिष्ठित चैनलों के नाम से यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करके यहां तक की टायर बनाने वाले से लेकर पान लगाने वाले तक अपने आप को पत्रकार कहने लगे हैं जोकि सरासर एकदम गलत है उत्तर प्रदेश तथा भारत भर में दो ही लोगों को प्रेस आईडी कार्ड देने का अधिकार है वह है सूचना मंत्रालय और प्रसारण मंत्रालय लेकिन यूट्यूब पर वीडियो डाउनलोड करके कुछ लोग समाज और पुलिस विभाग को चूना लगाने का काम कर रहे हैं गले में फर्जी प्रेस कार्ड टांग कर यह फर्जी यूट्यूबर अपने आप को पत्रकार कहते घूम रहे हैं और तो और पुलिस विभाग ने अब तक इन फर्जी पत्रकारों पर सूचना मंत्रालय व प्रसारण मंत्रालय से जानकारी इकट्ठा करके कार्रवाई क्यों नहीं की यह भी एक सोचने वाली बात है बाकी पुलिस विभाग खुद समझदार है आज पुलिस विभाग पर जैसे आरोप लग रहे हैं वह बहुत ही दुर्भाग्य वाली बात है आखिर इन फर्जी पत्रकारों पर पुलिस विभाग द्वारा पत्रकारों की सही पहचान करके फर्जी पत्रकारों पर आईपीसी धारा के तहत मुकदमा दर्ज करके जेल भेज देना चाहिए ताकि समाज में पत्रकार और पत्रकारिता की छवि धूमिल ना हो

7 views0 comments