top of page
Search
  • alpayuexpress

अधिवक्ताओं ने तहसीलदार पर लगाया आरोप!...समय पर दाखिल खारिज के फाइलों का नही करते हैं निस्तारण

सेवराई/गाजीपुर/उत्तर प्रदेश


अधिवक्ताओं ने तहसीलदार पर लगाया आरोप!...समय पर दाखिल खारिज के फाइलों का नही करते हैं निस्तारण


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


सेवराई। तहसील मुख्यालय के वकीलों ने बार संघ अध्यक्ष सेवराई अशोक सिंह के नेतृत्व में तहसीलदार अमित शेखर के विरुद्ध मोर्चा खोल दिया। वकीलों ने आरोप लगाया कि तहसीलदार द्वारा अविवादित दाखिल खारिज के फाइलों का निस्तारण नहीं किया जा रहा है। जबकि सभी सुनवाई व अन्य कार्रवाई पूरी होने के बाद उसे 30 से 35 दिनों में कर देना है। उन्होंने तहसीलदार अमित शेखर के न्यायालय में नही बैठने पर उनके विरुद्ध लामबंद होकर अनिश्चित कालीन न्यायालय कार्य से विरत रहने का फैसला लिया है। इस दौरान वकीलों ने जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन भी किया।

बार संघ अध्यक्ष सेवराई अशोक सिंह ने बताया कि तहसीलदार अमित शेखर के द्वारा अविवादित फाइलों का दाखिल खारिज पत्रावली का निस्तारण पिछले तीन-चार महीनों से नहीं किया जा रहा है। जिससे करीब 500 से ऊपर आवेदन उसी तरह से डंप पड़े हुए हैं। बताया कि पिछली खतौनी में नाम होने और एक फसली चक्र के बाद नई खतौनी में नाम नहीं होने के आवेदन को भी उनके द्वारा निस्तारित नहीं किया जा रहा है रिश्ते फसली चक्र में नाम सुधार वाले को लेकर फरियादियों को काफी लंबे समय से इंतजार करना पड़ रहा है। कार्यालय के मिसलेनियस (छोटे मामले के निस्तारण) कार्यों में भी उन्हें कोई दिलचस्पी नहीं है। जिससे साधारण वह छोटे स्तर के मामले भी लंबे समय से पेंडिंग पड़े हुए हैं।

आरोप लगाया कि जिलाधिकारी के निर्देश के बावजूद तहसीलदार कार्यालय में प्राइवेट कर्मीको को रखकर कार्य लिया जा रहा है। जो कार्यों के प्रति धन उगाही करते हैं। इसके साथ ही नामांतरण आदेश इस समय से नहीं दिया जा रहा है। नियमित तौर पर न्यायालय में नहीं बैठेंगे कारण चार-पांच महीनों से 500 से अधिक मामले पेंडिंग पड़े हुए हैं। जिससे दूरदराज से आने वाले फरियादियों को काफी असुविधा हो रही है। वकीलों ने तहसीलदार अमित शेखर पर कई गम्भीर आरोप लगाते हुए मोर्चा खोल दिया है। इस संबंध में एसडीएम सेवराई राजेश प्रसाद चौरसिया ने बताया कि दोनों पक्षों को बैठाकर जल्दी मामले का निस्तारण कराया जाएगा।

इस दौरान बार संघ अध्यक्ष जमानिया गोरख सिंह यादव, एडवोकेट काजी शकील, मनोज पांडेय, दयाशंकर सिंह, काशीनाथ राय, राजवंश सिंह यादव, शाहजहां, रवि प्रकाश सिंह, अनिल सिंह, प्रवीण राय, एमामुद्दीन खान, एजाद खान आदि एडवोकेट मौजूद रहे।

1 view0 comments
bottom of page