top of page
Search
  • alpayuexpress

अगस्त माह में धंधरौल बांध में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का आज घटनास्थल पर किया गया री-सीन क्र

धंधरौल /सोनभद्र/उत्तर प्रदेश


अगस्त माह में धंधरौल बांध में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का आज घटनास्थल पर किया गया री-सीन क्रिएट


आकाश मौर्या ब्यूरो चीफ


सोनभद्र:- अपर पुलिस अधीक्षक विजय शंकर मिश्रा, पुलिस क्षेत्राधिकारी डॉ0 चारू द्विवेदी व विवेचक क्राइम ब्रांच कट्टर राजेंद्र सिंह द्वारा 15 अगस्त को धंधरौल बांध में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का आज दिनांक 18 दिसम्बर 2022 को घटनास्थल पर पहुंच कर री-सीन क्रिएट करते हुए निरीक्षण किया

मृतक के पिता डॉक्टर बनारसी पाण्डेय ने कहा कि मुझे न्याय चाहिए मेरे पुत्र की मौत किन परिस्थितियों में हुई इसकी निष्पक्ष जांच कर दोषी को जेल की सलाखों तक पहुंचाया जाए।

घटनास्थल पर मौजूद पुलिस विभाग के अधिकारी गण

ब्रह्मनगर निवासी रिटायर्ड पशु चिकित्सक डॉक्टर बनारसी पाण्डेय के पुत्र रामानुज 15 अगस्त को अपने दोस्त मसदुल के साथ धधरौल बांध गए हुए थे, दोपहर 3:00 बजे के करीब डॉक्टर बनारसी को सूचना मिली की रामानुज की बांध में डूबने से मौत हो गई है।

पूरा परिवार जब मौके पर पहुंचे तो उनका जवान बेटा मृत में पाया गया। उन्होंने आरोप लगाया है कि उसके दोस्त ने उसकी हत्या की है। उनका कहना था कि तत्कालीन रामपुर बरकोनिया थानाध्यक्ष ने उनकी तहरीर नहीं ली और इसे दुर्घटना माना। जब पाण्डेय (पिता) ने अदालत की शरण ली तो घटना के काफी दिन बाद थानाध्यक्ष ने प्राथमिकी दर्ज की। रामपुर बरकोनिया थानाध्यक्ष की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए जब पुलिस अधीक्षक डॉक्टर यशवीर सिंह से गुहार लगाई तो उन्होंने इसकी विवेचना क्राइम ब्रांच के तेजतर्रार इंस्पेक्टर राघवेंद्र सिंह को इसकी जिम्मेदारी सौंपी। जैसे ही विवेचना का दायित्व मिला उन्होंने हर एक पहलू की जांच शुरू कर दी।

तकनीकी जांच करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक विजय शंकर मिश्र, क्षेत्राधिकारी चारु द्विवेदी के साथ बांध पर री-सीन क्रिएट करवाया।

इस दौरान रामपुर बरकोनिया थानाध्यक्ष राम दरस के अलावा काफी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहे। रामानुज के वजन के बराबर पुतला तैयार कर बांध में गिराया गया किस तरह उसकी मौत हुई यह जानने का प्रयास किया गया।

इस मौके पर विवेचक राघवेंद्र सिंह ने वादी डॉक्टर बनारसी पाण्डेय व आरोपी मसदुल से विस्तार से तमाम बिंदुओं पर जानकारी हासिल की जैसे बांध पर जाने से पूर्व किन-किन स्थानों पर दोनों गए थे।

इसका बारीकी से निरीक्षण किया गया। इस दौरान आरोपी के भाई द्वारा बार-बार टोका-टोकी की जाती रही। इस पर विवेचक क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर राघवेंद्र सिंह ने जमकर फटकार लगाई। अपर पुलिस अधीक्षक विजय शंकर मिश्र ने डाक्टर बनारसी पाण्डेय को भरोसा दिलाया कि उनके साथ न्याय होगा। उन्होंने कहा कि अगर एक भी बिंदु दोषी के खिलाफ मिलेगा तो कार्यवाई निश्चित होगी।

3 views0 comments
bottom of page