Search
  • alpayuexpress

अखिलेश यादव व डिंपल ने की अंतिम संस्कार की विधियां, आंसुओं में डूबा इटावा

इटावा/उत्तर प्रदेश


अखिलेश यादव व डिंपल ने की अंतिम संस्कार की विधियां, आंसुओं में डूबा इटावा


किरण नाई वरिष्ठ पत्रकार


इटावा।समाजवादी पार्टी के संस्थापक पूर्व रक्षामंत्री धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव के अंतिम दर्शन के लिए सैफई में आज जनसैलाब उमड़ पड़ा था। सोमवार 10 अक्टूबर को मुलायम सिंह यादव का पार्थिव शरीर उनके आवास पर रखा गया था। आज मंगलवार 11 अक्टूबर को अंतिम संस्कार की विधियां पूरी करने के बाद पार्थिव शरीर सैफई के मेला ग्राउंड में रखा गया।घर पर अंतिम संस्कार की सभी विधियां अखिलेश यादव और उनकी पत्नी डिंपल यादव ने की।

नेता जी के अंतिम दर्शन को हर आंख थी बेताब

सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर घर से ले जाने की सूचना मिलने के साथ ही परिवार की महिलाएं और बच्चे आंसुओं में डूब गए।क्यों कि उनका अब हमेशा के लिए जा रहा है।धर्मेंद्र यादव, डिंपल, अक्षय प्रताप यादव, अनुराग यादव, तेज प्रताप यादव सहित परिवार के लोग आंसू भरी आंखों से अंतिम यात्रा की तैयारियां देखते रहे।आवास के बाहर अपने नेता जी की अंतिम एक झलक पाने के लिए जनसैलाब उमड़ा पड़ा था। हर आंख सिर्फ अपने नेता जी को देखना चाहती थी।

आवास से मेला ग्राउंड तक थी नेता जी के चाहने वालों की भीड़

धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव का जैसे ही पार्थिव शरीर आवास से बाहर ले जाया गया।ऐसा लगा कि जैसे आंसुओं का बांध टूट गया हो।हर तरफ रोते-बिलखते परिजन और समर्थकों के चेहरे नजर रहे आ रहे थे।इन सब के बीच मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर को एक रथ पर रखा गया।इस रथ में उनके साथ अखिलेश यादव सहित परिवार के अन्य सदस्य भी थे।मुलायम सिंह यादव अमर रहें, मुलायम सिंह यादव जिंदाबाद के नारों के साथ सबके प्यारे नेता जी की अंतिम यात्रा उनके आवास से निकल पड़ी थी।

मुलायम सिंह यादव अमर रहें के नारों से गूंजा सैफई

मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर को लेकर जैसे-जैसे रथ आगे बढ़ रहा था वैसे-वैसे सैफई का पूरा आसमान मुलायम सिंह यादव अमर रहें के नारों से गूंज रहा था।आवास से लेकर मेला ग्राउंड तक हर तरफ सिर्फ नेता जी के चाहने वालों की भीड़ थी। हर व्यक्ति या तो नेताक्षजी का दर्शन करना चाहता था, या फिर उनकी रथयात्रा को अपने मोबाइल फोन के कैमरे में कैद करना चाहता था।लगभग डेढ़ घंटे में आवास से पार्थिव शरीर मेला ग्राउंड पहुंच पाया।

जब तक सूरज चांद रहेगा मुलायम सिंह का नाम रहेगा

मेला ग्राउंड में पहले से ही भारी संख्या में लोग नेता जी के अंतिम दर्शन के लिए खड़े थे। जब तक सूरज चांद रहेगा, मुलायम सिंह तेरा नाम रहेगा नारों से मेला ग्राउंड गूंज रहा था। लोगों की भीड़ को चीरते हुए सुरक्षाकर्मियों ने सबके प्यारे नेताजी का पार्थिव शरीर पंडाल में बने मंच पर पहुंचाया।इसके बाद वहां सपा विधायकों, समर्थकों और मुलायम सिंह यादव के चाहने वालों ने श्रद्धांजलि दी।शाम लगभग 4.30 बजे अखिलेश यादव ने अपने पिता मुलायम सिंह यादव को नम आंखों से मुखाग्नि दी।

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के संस्थापक पूर्व रक्षामंत्री तीन बार मुख्यमंत्री रहे धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि देने के मामले में दलीय मर्यादाएं टूट गयी।देश भर से पहुंचे लोगों ने मुलायम सिंह यादव को सैफई पहुंच कर श्रद्धांजलि दी।लोकसभा स्पीकर ओम बिरला, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, किसान नेता राकेश टिकैत, सपा राज्यसभा सांसद जया बच्चन, अभिषेक बच्चन, बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, सुब्रत राय सहारा, सांसद रीता बहुगुणा जोशी, आरएलडी अध्यक्ष जयंत चौधरी, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, बृजेश पाठक,भाजपा सांसद वरुण गांधी आदि सैफई पहुंचे।इसके अलावा तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर, कविता राव, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, बाबा रामदेव, महाराष्ट्र से शरद पवार, सुप्रिया सुले, मल्लिकार्जुन खड़गे, एसपी सिंह बघेल, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, अनिल अंबानी ने मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि दी।

2 views0 comments